विकास प्रदर्शनी: राजीव गांधी किसान न्याय योजना ने बदली किसानों की तकदीर

विकास प्रदर्शनी: राजीव गांधी किसान न्याय योजना ने बदली किसानों की तकदीर

रायपुर के साइंस कॉलेज परिसर स्थित डीडीयू आडिटोरियम में छत्तीसगढ़ सरकार की जनहितैषी योजनाओं एवं कार्यक्रमों से लोगों के जीवन में आए बदलाव और विकास कार्यों की उपलब्धियों पर आधारित राज्य स्तरीय छायाचित्र प्रदर्शनी को आज महासमुन्द जिले के पंचायत प्रतिनिधियों, ग्रामीणों सहित विभिन्न आयु वर्ग के लोगों ने देखा और सराहा। महासमुंद के पंचायत प्रतिनिधियों ने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार की सुराजी गांव योजना, राजीव गांधी किसान न्याय योजना, गोधन न्याय योजना की सराहना करते हुए कहा कि सरकार की इन योजनाओं से आम लोग लाभान्वित हो रहे हैं। यह छायाचित्र प्रदर्शनी में शासन की फ्लैगशिप योजनाओं को विशेष रूप से फोकस है।

महासमुंद जिले की पिथौरा ब्लाक के ग्राम पंचायत बड़ईपाली एवं घांच के पंचायत प्रतिनिधियों ने प्रदर्शनी का अवलोकन किया। बड़ईपाली की सरपंच श्रीमती सुलोचना बरीहा एवम घांच की सरपंच श्रीमती गीता दीवान ने सरकार की सभी योजनाओं की सराहना की और बताया की राजीव गांधी किसान न्याय योजना से किसानों के जीवन में खुशहाली आयी है और खेती-किसानी समृद्ध हुई है।  लोग पुनः खेती की ओर आकर्षित हो रहे हैं। इसके अलावा सुराजी गांव योजना और गोधन न्याय योजना से लोगों को रोजगार मिल रहा है। इससे खासकर समूहों से जुड़ी महिलाओं की आर्थिक स्थिति मजबूत हुई है। प्रर्दशनी देखने पहुंचे प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी कर रही सुश्री अंजली, सुश्री  श्रीमाली मीनाक्षी नरेटी एवं उनके साथियों ने कहा कि यहां पर सभी शासकीय योजनाओं से संबंधित जानकारी मिल रही है। उन्होंने कहा की जनसंपर्क विभाग द्वारा प्रकाशित पुस्तकों एवं पंपलेट उनके लिए काफी उपयोगी है।

प्रदर्शनी स्थल का ग्राम बड़ईपाली एवं घांच के श्रीमती फुलेश्वरी कोसरिया, श्रीमती मधु साहू, श्रीमती आशा बाई, श्रीमती बीरझा बाई, श्री खेमराज साहू, श्री समारू राम सहित अन्य पंचायत प्रतिनिधियों ने अवलोकन किया। इसके आलावा रायपुर से आए सुश्री साधना, सुश्री नेहा, श्री सुनील सोनी, श्री हर्ष सोनी एवं भारी संख्या में लोग प्रदर्शनी देखने पहुंचते रहे।