कोरिया: गांव लौटने की उम्मीद में पूरी रात पटरियों पर चले, मालगाड़ी की चपेट में आने से दो मजदूरों की मौत

कोरिया: गांव लौटने की उम्मीद में पूरी रात पटरियों पर चले, मालगाड़ी की चपेट में आने से दो मजदूरों की मौत

कोरिया | छत्तीसगढ़ के दो मजदूरों के लिए घर जाने की कोशिश जानलेवा साबित हुई। पटरी पर चलकर गांव लौट रहे दो मजदूर मालगाड़ी की चपेट में आ गए। बुरी तरह घायल होने के बाद पटरी के किनारे देर तक झटपटाते रहे, और दम तोड़ दिया। इनके साथ दो अन्य मजदूर भी थे, जो इस हादसे में बच गए।

घटना मंगलवार की सुबह उदलकछार रेलवे स्टेशन के पास हुई। हादसे की जानकारी मिलते ही मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने स्थानीय प्रशासनिक अधिकारियों से बात की और हर मुमकिन मदद देने का भरोसा दिलाया।

सीएम का ट्वीट

कोरिया जिले में मालगाड़ी के चपेट में आने से दो श्रमिकों की मृत्यु दुःखद है।
दिवंगत आत्माओं को ईश्वर शांति प्रदान करें।

मैंने जिला प्रशासन के अधिकारियों को श्रमिकों के परिवारजनों को त्वरित आवश्यक सहायता उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं।

— Bhupesh Baghel (@bhupeshbaghel) April 21, 2020

हसदेव जंगल के पास पोल क्रमांक 941 /17-18 के पास मजदूरों का शव पड़ा होने की सूचना पुलिस को दी गई। जानकारी के मुताबिक ये श्रमिक मरवाही पेंड्रा गौरेला ज़िला के गोरखपुर में काम करते थे। सूरजपुर ज़िले के गेवरा उजगी पहुँचने के लिए पूरी रात पटरियों पर चलते रहे। मजदूरों के नाम कमलेश्वर राजवाड़े (22)और गुलाब राजवाड़े (22) है।

यह खाद बीज बनाने वाली कंपनी में काम करते थे। इनके साथी उमेश देवांगन, मोहर सिंह को मामूली चोटें आईं हैं। पुलिस घटना की जांच कर रही है।