छत्तीसगढ़ में 10-12वीं की बची हुई परीक्षाएं नहीं होंगी, आदेश जारी

छत्तीसगढ़ में 10-12वीं की बची हुई परीक्षाएं नहीं होंगी, आदेश जारी

रायपुर. छत्तीसगढ़ के स्टूडेंट्स को बड़ी राहत देने का फैसला सरकार ने लिया है। इस फैसले के तहत दसवीं-बारहवीं की बची हुई परीक्षाएं अब नहीं होगी। बोर्ड परीक्षाओं को रद्द करने का यह  फैसला लॉकडाउन की वजह से लिया गया। नए शिक्षा सत्र के शुरू होने के दिन भी करीब हैं। ऐसे में बची परीक्षा ले पाना सरकार को मुमकिन नहीं लगा। विभागीय अफसरों ने इसे लेकर बैठक की और निर्णय लिया। अब आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर संबंधित विषयों में छात्रों के नंबर मिलेंगे। बुधवार को माध्यमिक शिक्षा मंडल (माशिमं) ने इस संबंध में सूचना जारी की। आंतरिक मूल्यांकन के लिए प्री-बोर्ड और छमाही परीक्षा में मिले नंबर स्कूलों से लिए जाएंगे।

माध्यमिक शिक्षा मंडल के सचिव डॉ.वीके.गोयल ने बताया कि जो छात्र आंतरिक परीक्षा में शामिल नहीं हो सके थे या फिर फेल रहे होंगे उन्हें न्यूनतम पासिंग नंबर दिया जाएगा। प्राइवेट छात्रों को भी संबंधित विषयों में पासिंग नंबर मिलेंगे। कोरोना वायरस की वजह से उपजे संकट की वजह से 21 मार्च से 31 मार्च तक की परीक्षाएं स्थगित की गई थी। परीक्षा स्थगित होने से पहले दसवीं के मुख्य विषयों की परीक्षा हो चुकी थी, लेकिन बारहवीं में अभी कई विषयों की परीक्षा होने वाली थी। दसवीं बोर्ड में 3,87,542 छात्र हैं। जबकि बारहवीं में छात्र संख्या 2,72,809 है।