15 से 18 वर्ष के किशोरों की टीकाकरण की अच्छी शुरूआत, पहले ही दिन 11 प्रतिशत को लगाए गए टीके

15 से 18 वर्ष के किशोरों की टीकाकरण की अच्छी शुरूआत, पहले ही दिन 11 प्रतिशत को लगाए गए टीके

प्रदेश में 15 से 18 वर्ष के किशोरों की टीकाकरण की अच्छी शुरूआत हुई है। पहले ही दिन 3 जनवरी को प्रदेश भर में एक लाख 85 हजार 906 किशोर-किशोरियों को कोरोना से बचाव का टीका लगाया गया। यह प्रदेश में इस आयु वर्ग के कुल 16 लाख 39 हजार 811 किशोरों के 11 प्रतिशत से अधिक है। मुंगेली और धमतरी जिले में पहले ही दिन कुल लक्ष्य के 39-39 प्रतिशत, कोंडागांव में 37 प्रतिशत, कांकेर में 20 प्रतिशत, गरियाबंद और दुर्ग में 19-19 प्रतिशत, बालोद में 18 प्रतिशत, राजनांदगांव में 15 प्रतिशत, बलौदाबाजार-भाटापारा और महासमुंद में 14-14 प्रतिशत तथा कोरिया में 12 प्रतिशत किशोर-किशोरियों को टीका लगाया गया।

टीकाकरण की शुरूआत के पहले दिन किशोरों में खासा उत्साह देखा गया। वे अपने अभिभावकों के साथ बड़ी संख्या में टीकाकरण केंद्र पहुंचे और सहर्ष कोरोना से बचाव का टीका लगवाया। प्रदेश में 15 से 18 वर्ष आयु वर्ग के टीकाकरण के लिए 2452 टीकाकरण साइट्स बनाए गए हैं। कोरोना सक्रंमण से बचाव के लिए 3 जनवरी को मुंगेली जिले में 18 हजार 938, धमतरी में 18 हजार 637, कोंडागांव में 13 हजार 434, कांकेर में 9199, गरियाबंद में 6904, दुर्ग में 19 हजार 519, बालोद में 8858, राजनांदगांव में 14 हजार 846, बलौदाबाजार-भाटापारा में 13 हजार 498, महासमुंद में 9041, कोरिया में 4602, सूरजपुर में 4852, कोरबा में 7010 और कबीरधाम में 4524 किशोरों को टीका लगाया गया।

जशपुर जिले में 3370, दंतेवाड़ा में 1091, रायपुर में 8589, जांजगीर-चांपा में 5611, बिलासपुर में 4065, रायगढ़ में 3385, बस्तर में 1752, बलरामपुर-रामानुजगंज में 1501, सुकमा में 424, गौरेला-पेंड्रा-मरवाही में 576, सरगुजा में 927, बेमेतरा में 597, बीजापुर में 117 तथा नारायणपुर में 39 किशोरों को 3 जनवरी को कोरोनारोधी टीके की पहली खुराक दी गई।