मंत्री डॉ. शिव डहरिया : समाज में प्रतिभा की कोई कमी नहीं, अवसर मिला तो डॉ. बाबा साहेब ने बनाया दुनिया का सर्वश्रेष्ठ संविधान

मंत्री डॉ. शिव डहरिया : समाज में प्रतिभा की कोई कमी नहीं, अवसर मिला तो डॉ. बाबा साहेब ने बनाया दुनिया का सर्वश्रेष्ठ संविधान

नगरीय प्रशासन और श्रम मंत्री डॉ. शिव कुमार डहरिया ने आज छत्तीसगढ़ की प्रथम सांसद मिनीमाता की 48वीं पुण्यतिथि पर उन्हें विनम्र श्रद्धांजलि दी। डॉ. डहरिया ने इस मौके पर समाज में महिलाओं के सशक्तिकरण की दिशा में उत्कृष्ट कार्य के लिए महिलाओं को सम्मानित किया। उन्होंने इस मौके पर कक्षा 10वीं और 12वीं में प्रावीण्य सूची प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों को सम्मानित भी किया।

उल्लेखनीय है कि मिनीमाता की पुण्यतिथि के अवसर पर न्यू राजेन्द्र नगर स्थित गुरू घासीदास साहित्य एवं संस्कृति अकादमी में समस्त सतनामी समाज द्वारा आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से शामिल हुए। डॉ. डहरिया ने कार्यक्रम के दौरान न्यू राजेन्द्र नगर स्थित दो गार्डनों के सौदर्यीकरण के लिए 1 करोड़ 41 लाख रूपए की घोषणा की। इसमें राजेन्द्र नगर के मोहल्ला गार्डन के सौंदर्यीकरण के लिए 91 लाख रूपए और नरसिंह मण्डल गार्डन के सौंदर्यीकरण के लिए 50 लाख रूपए शामिल है। उन्होंने इस मौके पर सतनामी समाज के भवन के तीसरे मंजिल तक लिफ्ट के लिए 18 लाख 36 हजार रूपए की भी स्वीकृति प्रदान की।

डॉ. डहरिया ने सम्मान समारोह को सम्बोधित करते हुए कहा कि समाज में प्रतिभा की कोई कमी नहीं है, अवसर मिला तो डॉ. भीमराव अंबेडकर ने दुनिया का सर्वश्रेष्ठ संविधान बनाया। उन्होंने कहा कि मिनीमाता तत्कालीन समय में जब समाज में कुरीतियां और सामाजिक बुराईयां व्याप्त थी, उस समय उन्होंने संसद में दलितों, महिलाओं और कमजोर वर्गाें के लिए कानून बनाने में अहम योगदान दिया। मंत्री डॉ. डहरिया ने कहा कि मिनीमाता जी के बताए गए रास्तों पर चलकर जनकल्याण के लिए मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ सरकार अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, पिछड़ा वर्ग और गरीबों के विकास के लिए हर संभव प्रयास कर रही है। राज्य सरकार छत्तीसगढ़ की अस्मिता की प्रतीक मिनीमाता सहित प्रदेश के महापुरूषोें का सपना पूरा करने की दिशा में काम कर रही है।

कार्यक्रम स्थल पर कार्यक्रम की संयोजक श्रीमती शकुन डहरिया, गुरु घासीदास साहित्य एवं संस्कृति अकादमी के अध्यक्ष श्री के. पी. खाण्डेय, पूर्व विधायक श्री डोमन लाल कोरसेवाणा सहित डॉ. जे.आर.सोनी, श्री डी. एस. पात्रे, श्री जी. आर.बाघमारे, श्री चेतन चंदेल, श्री सुंदर जोगी, श्री अलखराम चतुर्वेवेदनी, श्री एस.के सोनवानी, श्री अरूण मण्डल, तथा समाज के विशिष्टजन और प्रतिभावान छात्र-छात्राएं एवं उनके पालक इस अवसर पर उपस्थित थे।

मिनीमाता स्मृति दिवस पर घर एवं परिवार की जिम्मेदारियों के साथ-साथ समाज में अलग-अलग क्षेत्रों में महिलाओं के सशक्तिकरण की दिशा में उत्कृष्ट कार्य के लिए श्रीमती गिरजा पाटले, श्रीमती छाया भारती, श्रीमती गीता ओगरे, श्रीमती स्वरस्वती राघव, श्रीमती अंजूषा चांदनी, सुश्री नयन अजगल्ले, श्रीमती अमरवतिन भटपहरी, श्रीमती इंदु डहरिया, श्रीमती सुनीता देशलहरे, श्रीमती पुष्पा पाटले, श्रीमती ऊषा चंद्रसेन, श्रीमती राजेश्वरी चांदनी, श्रीमती चमेल रात्रे और श्रीमती द्रोपती पात्रे को शाल, श्रीफल और शील्ड से देकर सम्मानित किया।

स्मृति दिवस पर प्रतिभावान विद्याथिर्याें को शाल, श्रीफल और शील्ड से देकर सम्मानित किया। इनमें हायर सेकेण्डरी स्तर पर प्रावीण्य सूची प्राप्त करने वाले कु. मितलायी ओगरे, श्री मनीष मनहर, कु. सौम्य बंजारे, कु. प्रीति कुर्रे, श्री खिलेश मिर्चे, कु. राजनंदनी आयुषी चेलक, श्री भूपेन्द्र गिरी, कु. मंजू सूर्यवंशी, श्री नीरव जांगडे, श्री हीरा बंजारे, कु. सुरीली चतुर्वेदी, कु. प्रीति जोशी, कु. प्रीति बंजारे, कु. दिव्या सोनवानी, कु. रोपणी रात्रे, कु. रेणूका, कु. हुमानी बंजारे को शाल, श्रीफल और शील्ड से देकर सम्मानित किया। इसी प्रकार हाई स्कूल स्तर पर कु. निकिता दास, श्री वेदप्रकाश मिरी, श्री अजय जांगडे, कु. विदिशा रात्रे, श्री जयप्रकाश बंजारे, कु. लावन्य गिलहरे, कु. लीना ओगरे, कु. तिरूण टंडन, श्री अनुज कुमार बारले, कु. कनिष्का ओगरे, कु. मीनाक्षी कोसरिया, श्री राजेश घृतलहरे, कृ. ज्योति रात्रे, कु. हेमलता गायकवाड़, कु. चंद्रराज मेरीषा, कु. देविक्षा भण्डारी, कु. निधी ढीढी, कु. प्रियंका कोसले, श्री अजय बंजारे, श्री समीर चतुर्वेदी, श्री आदित्य चतुर्वेदी, कु. अंजली भारती, कु. चांदनी जांगडे, कु. विनिशा रात्रे शामिल है।