रायपुर : कलेक्टर की अपील पर मात्र 24 घण्टे में दानस्वरूप मिले 11.58 लाख रूपए नकद व 15 लाख रुपए की सामग्री

रायपुर : कलेक्टर की अपील पर मात्र 24 घण्टे में दानस्वरूप मिले 11.58 लाख रूपए नकद व 15 लाख रुपए की सामग्री

कोरोना वायरस कोविद-19 की आसन्न आपदा को देखते हुए देशभर में शासन द्वारा तालाबंदी की घोषणा की गई है। 25 मार्च से जारी तालाबंदी का व्यापक असर आमजनता पर पड़ा है, विशेष रूप से निचले तबके केे रोजमर्रा और दिहाड़ी मजदूरों और निर्धन परिवारों पड़ रहा है, जिनकी हरसंभव मदद के लिए जिला प्रशासन द्वारा सतत् प्रयास किए जा रहे हैं। चूंकि निचले तबके में जीवन-यापन करने वाले ऐसे लोगों की तादाद काफी ज्यादा है, इसलिए कलेक्टर श्री रजत बंसल ने मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के निर्देशानुसार गुरूवार 26 मार्च को सोशल मीडिया में वॉइस मैसेज से जरिए जिलावासियों से निर्धन परिवारों की मदद के लिए यथासंभव खाद्यान्न सामग्री, राशि और वस्तुदान की अपील की। इस सम्पूर्ण प्रक्रिया में पारदर्शिता आए, इसके लिए कलेक्टर के निर्देश पर एक लिंक जारी किया गया, जिसमें दानदाताओं के नाम, पते, संस्था का नाम, राशि या सामग्री का विवरण आदि का ऑनलाइन रिकॉर्ड इसमें दर्ज हो रहा है। कलेक्टर के आव्हान का सकारात्मक असर यह रहा कि अपील के मात्र 24 घण्टों के भीतर ही शहर की 92 संस्थाओं, संगठनों, क्लबों और व्यक्तिगत दानदाताओं ने निचले तबके को राहत पहुंचाने इस पुनीत कार्य के लिए अपने कदम बढ़ाए और 11 लाख 58 हजार रूपए से अधिक की राशि तथा लगभग 15 लाख रूपए की खाद्य सामग्री एवं अन्य आवश्यक वस्तुआंे का संग्रहण हो गया।

कलेक्टर ने बताया कि दान में प्राप्त सामग्रियों का समुचित और उपयुक्त वितरण सुनिश्चित हो, इसके लिए अधिकारियों की कमोडिटी डिस्ट्रीब्यूशन टीम बनाई गई है। उन्होंने बताया कि आयुक्त नगरपालिक निगम से नगर से स्लम क्षेत्र में निवासरत अतिनिर्धन और जरूरतमंद लोगों की सूची तैयार की गई है, जिसके आधार पर चिन्हांकित लोगों को सामग्री वितरित की जा रही है, जिसमें खाद्यान्न के पैकेट सहित दैनिक उपभोग की वस्तुएं शामिल रहेंगी। दान में प्राप्त राशि से राशन और अन्य दैनिक उपयोग के सामान क्रय किए जा रहे हैं। किसी भी हितग्राही को नकद राशि नहीं दी जाएगी। नगरवासियों की दानशीलता और आपात स्थिति में निःस्वार्थ सेवाभाव के साथ मदद के लिए आगे आए लोगों का कलेक्टर ने मुक्तकण्ठ से सराहना करते हुए कहा आभार प्रकट किया कि संकट की इस घड़ी में धमतरीवासियों ने अल्प समय में ही एकजुटता का प्रदर्शन करते हुए निर्धन परिवारों की सहायता के लिए तत्परता दिखाई, वह बेहद प्रशंसनीय है। चाहे राहत आपदा हो, सुपोषण अभियान हो या अन्य सामाजिक सरोकार के कार्य हो, नगर के संगठनों, संस्थाओं और लोगों ने शासन-प्रशासन की एक अपील पर अपनी सक्रिय सहभागिता और सकारात्मक भूमिका निभाई है।