रायपुर : होम आइसोलेशन में इलाज करा रहे 21361 कोरोना संक्रमितों को उपलब्ध कराई गई मेडिसीन किट

रायपुर : होम आइसोलेशन में इलाज करा रहे 21361 कोरोना संक्रमितों को उपलब्ध कराई गई मेडिसीन किट

होम आइसोलेशन में रह कर कोविड-19 का इलाज करा रहे 21 हजार 361 मरीजों को स्वास्थ्य विभाग द्वारा मेडिसीन किट उपलब्ध कराई गई है। प्रदेश में कोविड-19 के उपचार के लिए अब तक 22 हजार 435 मरीजों ने होम आइसोलेशन का विकल्प चुना है। इनमें से 8441 मरीज होम आइसोलेशन की अवधि पूरी कर स्वस्थ हो चुके हैं। स्वास्थ्य विभाग द्वारा मरीजों को दवाईयां उपलब्ध कराने के साथ ही होम आइसोलेशन के दौरान मरीजों और उनके परिजनों द्वारा बरती जाने वाली सावधानियों व दिशा-निर्देशों की जानकारी दी जा रही है। सभी जिलों में स्थापित होम आइसोलेशन कंट्रोल रूम के माध्यम से मरीजों की सेहत की निगरानी भी की जा रही है।

प्रदेश में कोविड-19 से जंग जीतने वाले मरीजों की कुल संख्या अब 41 हजार 111 पहुंच गई है। विभिन्न कोविड अस्पतालों और कोविड केयर सेंटर्स में इलाज के बाद स्वस्थ हुए 32 हजार 630 लोगों को डिस्चार्ज किया जा चुका है। वहीं होम आइसोलेशन में स्वास्थ्य लाभ ले रहे 8481 मरीज भी ठीक हो चुके हैं। 17 सितम्बर को प्रदेश भर में 5226 मरीजों ने कोरोना को मात दी है। इनमें कोविड केयर सेंटर्स और अस्पतालों से डिस्चार्ज 2019 और होम आइसोलेशन पूर्ण कर स्वस्थ हुए 3207 शामिल हैं।

स्वास्थ्य विभाग द्वारा स्थानीय प्रशासन के सहयोग से रायपुर जिले में होम आइसोलेटेड 7484 कोरोना संक्रमितों तक मेडिसीन किट पहुंचाई गई है। बिलासपुर जिले में होम आइसोलेशन वाले 2625, राजनांदगांव में 2203, दुर्ग में 1556, रायगढ़ में 1329, कबीरधाम में 595, कोरिया में 591, सरगुजा में 569, धमतरी में 515, मुंगेली में 419, कांकेर में 372, सूरजपुर में 313, बस्तर में 300, कोरबा में 278, बलौदाबाजार-भाटापारा में 273, जांजगीर-चांपा में 255, गरियाबंद में 238, बालोद में 234, कोंडागांव में 233, दंतेवाड़ा में 216, गौरेला-पेंड्रा-मरवाही में 180, महासमुंद में 168, नारायणपुर में 112, बलरामपुर-रामानुजगंज में 99, सुकमा में 69, जशपुर में 57, बीजापुर में 42 और बेमेतरा में 16 मरीजों को मेडिसीन किट उपलब्ध कराई गई है।

कोविड-19 के उपचार के लिए होम आइसोलेशन का विकल्प चुनने वाले प्रदेश के 22 हजार 435 मरीजों में से 8481 मरीज आइसोलेशन की अवधि पूरी कर स्वस्थ हो चुके हैं। इनमें रायपुर जिले के 5802, बिलासपुर के 729, राजनांदगांव के 504, दुर्ग के 282, सरगुजा के 225, धमतरी के 188, रायगढ़ के 164, बस्तर के 106, कांकेर के 93, कबीरधाम के 70, कोरिया के 60, बलौदाबाजार-भाटापारा के 52, सुकमा के 47, बीजापुर के 38, महासमुंद और बालोद के 34-34, सूरजपुर के 18 तथा जांजगीर-चांपा के 15 मरीज शामिल हैं।