16 अप्रैल गुरुवार की शाम 5 बजे  से 19 अप्रैल 2020 रविवार की शाम 5 बजे  तक के लिए रायपुर जिले में … लॉकडाउन

16 अप्रैल गुरुवार की शाम 5 बजे  से 19 अप्रैल 2020 रविवार की शाम 5 बजे  तक के लिए रायपुर जिले में … लॉकडाउन

रायपुर | कोरोना संक्रमण के बीच सरकार 21 अप्रैल से राहत देने का भरोसा दे रही है, लेकिन इससे पहले 3 दिन सख्त लॉकडाउन से गुजरना पड़ेगा। रायपुर और दुर्ग में गुरुवार शाम 5 बजे से कर्फ्यू जैसे हालात रहेंगे। सब्जी और किराना दुकानें भी बंद रहेंगी। इस दौरान घर से निकले तो एफआईआर दर्ज कर गिरफ्तारी की जा सकती है और वाहनों को जब्त किया जाएगा। हालांकि इस दौरान जरूरी सेवाएं पहले की तरह जारी रहेंगी।

अब पुलिस की गश्त, घर के सामने बैठना मना

गुरुवार से रविवार तक पुलिस जवान दिनभर गश्त करेंगे। ड्रोन से भी निगरानी होगी। गली-मोहल्लों में घर के सामने बैठने वालों से भी सख्ती से निपटा जाएगा। सभी तरह की दुकानें बंद होने की वजह से किसी को भी घरों से निकलने की अनुमति नहीं दी जाएगी। सड़कों पर चलने वाली गाड़ियां सीधे जब्त की जाएंगी और कोर्ट में पेश कर दी जाएंगी।

इन तीन कारणों से कर्फ्यू जैसे हालात बने

  • बाजारों में सोशल डिस्टेंस नहीं: अस्थाई सब्जी मार्केट में लगातार भीड़ जुटी। मना करने के बावजूद लोग नहीं मान रहे थे। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं किया। बैंकों में भी भीड़ लगी।
  • बेवजह घूमते नजर आए लोग: लॉकडाउन के दौरान लोग बेवजह घूमते नजर आए। पूछने पर तरह-तरह के बहाने बनाते। यहां तक कॉलोनियों व अन्य स्थानों पर लोग गप्पे मारते और घूमते देखे गए।
  • लॉकडाउन के नियमों को तोड़ रहे थे: लॉकडाउन तोड़ने की घटनाएं लगातार हुईं। पहली बार लगे लॉकडाउन के दौरान ही हजारों की संख्या में वाहनों का चालान किया गया। सैकड़ों लोगों पर एफआईआर दर्ज की गई। फिर भी लोग नहीं संभले।