रायपुर : क्वारंटाईन सेन्टरों में प्रवासी मजदूरों के लिए बेहतर व्यवस्था

रायपुर : क्वारंटाईन सेन्टरों में प्रवासी मजदूरों के लिए बेहतर व्यवस्था

राज्य शासन द्वारा लॉकडाउन के कारण वापस आए श्रमिकों को कोरोना वायरस से सुरक्षा की दृष्टि से 14 दिनों तक क्वारंटाईन सेंटरों में रहने की व्यवस्था की गई है। इन प्रवासी श्रमिकों के लिए सभी सेंटरों में बेहर इंतजाम किया गया है। बेमेतरा जिले में अन्य राज्यो से आए 25 हजार 505 प्रवासी मजदूर जिले के एक हजार 26 क्वारंटाईन सेन्टरों में ठहरे हुए है। इन प्रवासी मजदूरों की स्वास्थ्य जांच, खान-पान के अतिरिक्त एवं मनोरंजन की व्यवस्था की जा रही है। 14 दिनों के क्वारंटाईन काल में मजदूरों का मानसिक तनाव को कम करने के लिए योग, खेल गतिविधयों एवं सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयेजन भी किया जा रहा है। क्वारंटाईन सेंटरों में पौधारोपण, पुस्तक पाठन, निरक्षर महिलाओं एवं बच्चों को पढ़ना-लिखना सिखाया जा रहा है। जिले में ग्राम पंचायतों द्वारा क्वारंटाईन सेन्टरों में पुस्तक मैग्जीन की व्यवस्था की गई है। पौधारोपण कर गांवों को हराभरा करने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। क्वारेंटाइन सेंटर से जाने के पश्चात सभी प्रवासी मजदूरों को अपने घरों में पौधारोपण करने करने प्रेरित कर वन-धन की महत्ता से अवगत कराया जा रहा है। इसी क्रम में ग्राम मटका के क्वारंटाईन सेन्टर में नीम, आम, अशोक, अमरूद आदि वृक्षारोपण किया गया।