राहुल साहू बोरवेल रेस्क्यू ऑपरेशन अंतिम चरण में, सेना के जवान ऑक्सीजन सिलिंडर लेकर टनल के अंदर उतरे

राहुल साहू बोरवेल रेस्क्यू ऑपरेशन अंतिम चरण में, सेना के जवान ऑक्सीजन सिलिंडर लेकर टनल के अंदर उतरे

छत्तीसगढ़ के जांजगीर-चांपा जिले में बोरवेल के लिए खोदे गए गड्ढे में फंसे हुए राहुल को 100 घंटे से ज्यादा हो चुके हैं। उसको बचाने का प्रयास अभी तक सेना के निर्देश पर NDRF कर रही थी, लेकिन अब जवानों ने कमान अपने हाथ में ले ली है। NDRF को वहां से हटाकर अब सेना के जवान टनल में उतरे हैं। उनके साथ फोल्डेबल स्ट्रेचर, ऑक्सीजन सिलेंडर समेत कुछ और आपातकालीन उपकरण हैं। ऐसा माना जा रहा है कि जल्दी ही राहुल बाहर आ सकता है। राहुल की मां और उसके परिजनों को भी एंबुलेंस की तरफ ले जाया गया है।

सेना की ओर से बताया गया है कि NDRF जवानों को आराम देने के लिए जवानों ने कमान संभाली है। यह एक ज्वाइंट ऑपरेशन है और इसमें ऐसा ही किया जाता है। उन्होंने बताया कि अभी भी राहुल को बचाने में 3 से 4 घंटे या उससे ज्यादा लग सकते हैं। सवाल यहां बच्चे की जिंदगी का है, ऐसे में चट्‌टान तोड़ने के लिए सख्त रुख नहीं अपना सकते।

दूसरी ओर राहुल की हालत अब बिगड़ रही है। उसके मूवमेंट का एक नया वीडियो अभी सामने आया है। इसमें राहुल सिर उठाता हुआ और रिस्पॉन्स देता दिखाई दे रहा है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की ओर से भी ट्वीट कर कहा गया है कि सबकी दुआएं मासूम राहुल के साथ हैं। अभी इशारों में राहुल ने कुछ खाने की मांग की है। रेस्क्यू अभियान जारी है। चट्टानों से भी मज़बूत इस मासूम बालक के साहस को सलाम है।