कोरोना से जंग: राष्ट्रपति की पत्नी सविता कोविंद ने शक्ति हाट में खुद बनाया मास्क, शेल्टर होम में भिजवाए जाएँगे

कोरोना से जंग: राष्ट्रपति की पत्नी सविता कोविंद ने शक्ति हाट में खुद बनाया मास्क, शेल्टर होम में भिजवाए जाएँगे

दिल्ली | देश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों से हर कोई चिंतित है। देश का हर नागरिक लॉकडाउन का पालन करते हुए इस जंग में अपना योगदान दे रहा। इसी कड़ी में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की पत्नी सविता कोविंद शक्ति हाट में खुद मास्क सिल रही हैं।

देश की प्रथम महिला सविता कोविंद ने बुधवार को राष्ट्रपति भवन के शक्ति हाट में सिलाई मशीन पर बैठकर खुद मास्क सिले। इस दौरान उन्होंने अपने मुँह पर भी लाल रंग का मास्क लगा रखा था। उनके द्वारा बनाए गए मास्क दिल्ली के अलग-अलग शेल्टर होम में भिजवाए जाएँगे।

गौरतलब है कि कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी की गई गाइडलाइन में सभी को मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया गया है। इस वक्त बाजार में तीन लेयर वाले सर्जिकल मास्क, N-95 मास्क और कपड़े के बने मास्क मिल रहे हैं। वहीं स्वास्थ्य विभाग के विशेषज्ञों का मानना है कि कोरोना से बचने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग के साथ घरों से बाहर निकलने पर मास्क लगाना बेहद जरूरी है।

आपको बता दें कि इससे पहले राष्ट्र को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने लोगों से आह्वान करते हुए कहा था कि लोग कपड़ों से बने मास्क का इस्तेमाल करें। इतना ही नहीं प्रधानमंत्री कई बार अपने गमछे को मास्क के रूप में प्रयोग कर लोगों को यह भी संदेश दे चुके हैं कि कोरोना से बचने के लिए मास्क ही नहीं, बल्कि गमछा भी कारगर हो सकता है।

पिछले दिनों पीएम मोदी ने अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी के बीजेपी जिलाध्यक्ष से फोन पर बात करते हुए कहा था कि वह ज्यादा से ज्यादा लोगों को मास्क के बदले गमछे का इस्तेमाल करने के लिए प्रेरित करें।