लॉकडाउन के दौरान दिल्ली पुलिस की PCR बनी एम्बुलेंस , महिला को पहुंचाया अस्पताल

लॉकडाउन के दौरान दिल्ली पुलिस की PCR बनी एम्बुलेंस , महिला को पहुंचाया अस्पताल

नई दिल्ली : देश मे लॉकडाउन के बाद पुलिस की जिम्मेदारी ज्यादा बढ़ गई है. एक तरफ लॉकडाउन को सफल बनाने की जिम्मेदारी और उसी दौरान ड्यूटी के समय मिलने वाली कॉल पर फौरन पहुंच कर लोगों की मदद करने की जिम्मेदारी. दिल्ली पुलिस की पीसीआर में जरूरत के समय में गर्भवती महिला की मदद कर मानवता की मिसाल पेश की है. पुलिस ने लेबर पेन से तड़प रही एक महिला की सफल डिलीवरी करवाई. जच्चा और बच्चा दोनों स्वस्थ हैं.

दिल्ली पुलिस पीसीआर के डीसीपी शरत सिन्हा ने बताया की लॉकडाउन के बाद हमारे पास बहुत सी कॉल अलग-अलग तरह से मिल रही हैं. जिसमें से करीब 25 कॉल हमें महिलाओं की डिलवरी से सम्बंधित मिली हैं. लॉकडाउन के दौरान दिल्ली के मैदानगढ़ी इलाके में एक महिला को लेबर पेन हो रहा था महिला ने कई बार एम्बुलेंस को फोन किया. लेकिन काफी देर बाद तक भी कोई नहीं आया.

इसके बाद महिला अंजनी ने पुलिस को कॉल किया. पीसीआर तुरंत मौके पर पहुंची और दर्द से तड़प रही महिला को पीसीआर में लिटाया और जल्दी ही अस्पताल ले गए. जहां महिला की सफल डिलीवरी हुई. अगर वक्त रहते पीसीआर नहीं पहुंचती तो महिला की जान पर बन आती.

जच्चा और बच्चा के सही सलामत होने पर पीसीआर की इंस्पेक्टर पूनम पारीक खुद ही परिवार के घर बधाई देने पहुंचीं. महिला का परिवार बार-बार पुलिस को धन्यवाद कर रहा है. बच्चे के पिता संगीत ने बताया की हम लॉकडाउन की वजह से बहुत परेशान हो गए थे. लेकिन दिल्ली पुलिस का साथ हमें मिला और सब ठीक हो गया.