मुख्यमंत्री भूपेश बघेल : संघर्ष का दूसरा नाम है शहीद श्री नंदकुमार पटेल, प्रतिमा का किया अनावरण

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल : संघर्ष का दूसरा नाम है शहीद श्री नंदकुमार पटेल, प्रतिमा का किया अनावरण

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कहा है कि शहीद श्री नंदकुमार पटेल हमेशा सक्रिय रहते हुए किसान, मजदूर, आदिवासी, महिला एवं युवाओं के उत्थान व विकास के लिए लगातार काम करते रहे। शहीद श्री नंदकुमार पटेल संघर्ष का दूसरा नाम थे। उनका छत्तीसगढ़ के विकास को लेकर, किसानों, आदिवासी मजदूरों, महिलाओं व युवाओं सहित सभी वर्गाे के विकास के लिए जो संकल्प व सपना था उसको साकार करने के लिए आज छत्तीसगढ़ की सरकार लगातार कार्य कर रही है।

छत्तीसगढ़ सरकार शहीद श्री पटेल के संकल्प व सपनों को पूरा करने के लिए लगातार कार्य कर रही है

मुख्यमंत्री श्री बघेल आज रायगढ़ जिले के विकसखंड मुख्यालय खरसिया के विश्राम गृह के सामने शहीद श्री नंदकुमार पटेल की आदमकद प्रतिमा का अनावरण करने के बाद महात्मा गांधी कालेज प्रांगण में आयोजित आमसभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि गोधन न्याय योजना, किसान न्याय योजना, लघु वनोपज की खरीदी, राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना, राजीव युवा मितान क्लब सहित शासन की विभिन्न योजनाओं के माध्यम से हम शहीद श्री नंदकुमार पटेल की सोच को धरातल में पूरा करने के लिए निरंतर कार्य कर रहे है। हमारा यह लक्ष्य भी है कि उनके बताए रास्तों पर चलते हुए उनके सपनों को साकार करते हुए उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि दे सके।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कहा कि फसल विविधिकरण के लिए चलायी जा रही राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत धान सहित खरीफ की फसलों के लिए दी जाने वाली इनपुट सब्सिडी प्रति एकड़ 9 हजार रुपये रहेगी तथा इससे कम नहीं होगी। उन्होंने कहा कि इस योजना से किसानों की आर्थिक स्थिति बेहतर हुई है। आने वाले वर्षों में धान का समर्थन मूल्य बढ़ता है, तो किसानों को धान का अधिक मूल्य मिलेगा। उन्होंने कहा कि झीरम घाटी के शहीदों को जब तक न्याय नहीं मिलेगा, हम चैन से नहीं बैठेंगे।

उच्च शिक्षामंत्री श्री उमेश पटेल ने कहा कि शहीद श्री नंदकुमार पटेल विकास कार्यों के लिए भविष्य की सोच रखकर कार्य करते रहे। वे लगातार किसान, श्रमिक, युवाओं, महिलाओं सभी के विकास के लिए कार्य करते रहे। उन्होंने कहा कि वे शिक्षा को लेकर हमेशा कार्य करते रहे जिसके बदौलत आज खरसिया क्षेत्र में नवोदय विद्यालय, एकलव्य विद्यालय, मॉडल स्कूल व स्वामी आत्मानंद स्कूल यह चारों संस्थाएं संचालित हैं। उन्होंने कहा कि उनका एक सपना था कि यहां के धरमजयगढ़ तथा अन्य दूरस्थ अंचल के छात्रों की सुविधा के लिए रायगढ़ में यूनिवर्सिटी खोला जाए। जब मैंने यह बात मुख्यमंत्री श्री बघेल से कही तो उन्होंने कालेज जाने वाले छात्रों की सुविधा के लिए रायगढ़ में शहीद श्री नंदकुमार पटेल के नाम से यूनिवर्सिटी खोलने का निर्णय लिया। जिसके लिए क्षेत्र के सभी विद्यार्थियों की ओर से मैं उनका आभार जताता हूं। आज खरसिया में शहीद श्री नंदकुमार पटेल की आदमकद प्रतिमा का अनावरण किया गया। इस अवसर पर उन्हें सभी की ओर से श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं।

कृषि मंत्री श्री रविन्द्र चौबे ने इस मौके पर उनके साथ किए गए कार्यों से जुड़े अनुभव को साझा करते हुए कहा कि अविभाजित मध्यप्रदेश के समय से वे छत्तीसगढ़ तथा यहां के किसानों व लोगों के हितों व विकास के लिए पूरी दमदारी से अपनी बात रखते थे। मन से कोमल व संवेदनशील तथा पूरी बहादुरी से संघर्ष करने वाला व्यक्तित्व उनकी पहचान थी। छत्तीसगढ़ व छत्तीसगढिया लोगों को विकास की राह पर लगातार आगे ले जाने की उनकी सोच थी, जिसको आज मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ की सरकार पूरा करने का कार्य कर रही है।

खाद्य मंत्री श्री अमरजीत भगत ने कहा कि वे सदैव हमें सीख देते थे कि कुछ करना है तो छत्तीसगढ़ के माटीपुत्रों के लिए काम करो। उनकी इसी सोच को लेकर आज मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ की सरकार लगातार जनविकास के कार्य कर रही है। राजस्व मंत्री श्री जयसिंह अग्रवाल ने कहा कि वे इरादे के पक्के व दृढ़ इच्छा शक्ति वाले थे। वे बड़ी मजबूती से अपनी बात रखते थे। अपनी सोच को धरातल में उतारना उन्हें बखूबी आता था, जिसकी बदौलत उन्होंने खरसिया में विकास कार्य को हमेशा नई ऊंचाईयां दी। विधायक कोण्डागांव श्री मोहन मरकाम ने उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि उनका नेतृत्व कौशल अद्भुत था। सरपंच के पद से शुरूआत कर राज्य का गृहमंत्री बनना उनकी नेतृत्व क्षमता व योग्यता को दिखाता है।

इस मौके पर संसदीय सचिव श्री चिंतामणी महाराज, श्री द्वारकाधीश यादव, श्री चंद्रदेव राय, विधायक श्री लालजीत सिंह राठिया, विधायक श्री प्रकाश नायक, विधायक श्री चक्रधर सिंह सिदार, विधायक श्रीमती उत्तरी गनपत जांगड़े, श्री विनय भगत, श्री गुलाब कमरो, श्री किस्मत लाल नंद, श्री मोहित राम केरकेट्टा, छत्तसीगढ़ राज्य गौ सेवा आयोग के अध्यक्ष महंत श्री राम सुंदरदास, छत्तीसगढ़ राज्य पाठ्य पुस्तक निगम के अध्यक्ष श्री शैलेष नितिन त्रिवेदी, छत्तीसगढ़ राज्य खनिज विकास निगम के अध्यक्ष श्री गिरीश देवांगन, सदस्य छत्तीसगढ़ बीज निगम श्री दिलीप पाण्डेय, जिला पंचायत रायगढ़ के अध्यक्ष श्री निराकार पटेल, आईजी श्री रतन लाल डांगी, कलेक्टर रायगढ़ श्री भीम सिंह, पुलिस अधीक्षक रायगढ़ श्री अभिषेक मीणा सहित बड़ी संख्या में जनप्रतिनिधि व आमजन उपस्थित है।