रायपुर : नवा छत्तीसगढ़ गढ़ने में सहभागी बनेंगे युवा, प्रदेशभर में बनेंगे 13 हजार 269 राजीव युवा मितान क्लब

रायपुर : नवा छत्तीसगढ़ गढ़ने में सहभागी बनेंगे युवा, प्रदेशभर में बनेंगे 13 हजार 269 राजीव युवा मितान क्लब

किसी देश और प्रदेश के लिए युवा वह पूंजी होते हैं जिन पर उस देश और प्रदेश का भविष्य निर्भर करता है। इसी विचार को ध्यान में रखते हुए प्रदेश के संवेदनशील मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने नवा छत्तीसगढ़ गढ़ने में युवाओं को सहभागी बनाने की पहल की है। युवाओं को एक सूत्र में पिरोने के लिए भूतपूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न स्व. श्री राजीव गांधी के नाम पर राजीव युवा मितान क्लब योजना शुरू की जा रही है, जिसके माध्यम से प्रदेश की युवा शक्ति को एक नई दिशा मिलेगी। वहीं युवाओं को एक मंच देकर छत्तीसगढ़ के विकास में सहभागिता सुनिश्चित की जाएगी। राज्य सरकार ने प्रदेशभर में 13 हजार 269 राजीव युवा मितान क्लब के गठन का निर्णय लिया है।

गौरतलब है कि स्वामी विवेकानंद की जयंती पर 12 जनवरी 2020 को मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने राज्य के युवाओं को संगठित करके उनकी ऊर्जा का सदुपयोग नवा छत्तीसगढ़ गढ़ने में करने की बात कही थी। इसके लिए युवाओं को एक मंच पर लाना जरूरी है और वह मंच या माध्यम राजीव युवा मितान क्लब है। क्लब से जुड़कर युवा खेलों को आगे बढ़ाने के साथ ही छत्तीसगढ़ की संस्कृति और पर्यावरण के संरक्षण एवं संवर्धन के लिए काम करेंगे। राजीव युवा मितान क्लब का उद्देश्य युवाओं को रचनात्मक कार्यों से जोड़ने के अलावा इन युवाओं के माध्यम से जनकल्याणकारी योजनाओं को आमजनों तक पहुंचाना भी है।

क्लब गठन का उद्देश्य-

राजीव युवा मितान क्लब गठन की योजना का उद्देश्य प्रदेश के युवा वर्ग को संगठित कर उन्हें रचनात्मक कार्यों से जोड़ना है। वहीं उन्हें शासन की विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं से जोड़कर सामाजिक, सांस्कृतिक, खेल एवं सेवाभाव से कार्य करने के लिए प्रोत्साहित करना है। साथ ही प्रदेश के विकास योजनाओं के क्रियान्वयन में सहयोग प्राप्त कर लोक सहभागिता सुनिश्चित करने व सृजनात्मक गतिविधियों के लिए प्रेरित किया जाना है। राजीव युवा मितान क्लब के माध्यम से युवाओं में नेतृत्व क्षमता के विकास में मदद मिलेगी। इस क्लब के माध्यम से कौशल विकास की गतिविधियाँ भी संचालित की जाएंगी।

यह हुआ है तय –

योजना के लिए तय प्रारूप के अनुसार राज्य की सभी 11 हजार 664 ग्राम पंचायतों में एक-एक एवं प्रदेश के 169 नगरीय निकायों में जनसंख्या के अनुपात में 1605 क्लबों का चरणबद्ध तरीके से गठन किया जाएगा। इस तरह राज्य में कुल 13 हजार 269 राजीव युवा मितान क्लब गठित किए जाएंगे। इन क्लबों के लिए 132.69 करोड़ रुपए वार्षिक व्यय संभावित है, जिसमें वित्तीय वर्ष 2021-22 के वार्षिक बजट में राजीव युवा मितान क्लब के लिए 50 करोड़ रुपए की राशि का प्रावधान किया गया है। प्रति क्लब प्रति तिमाही 25 हजार रुपए की राशि अनुदान के रूप में दी जाएगी।

ये होंगे क्लब के सदस्य-

निर्धारित प्रावधानों के अनुसार क्लब में सदस्य बनने की पात्रता राज्य के मूल निवासियों को होगी। इसमें 15 से 40 वर्ष आयु सीमा के बीच के लोग ही सदस्य बनने की योग्यता रखेंगे। प्रत्येक क्लब में सदस्य क्षमता 20-40 तक होगी। इसमें प्रभारी मंत्री यह सुनिश्चित करेंगे कि क्लब में सभी वर्गों का उचित प्रतिनिधित्व हो।

ऐसे होगा संचालन-

राजीव युवा मितान क्लब के प्रभावी रूप से संचालन के लिए राज्य स्तर से लेकर ग्राम पंचायत स्तर तक समिति गठित की गई है। योजना के क्रियान्वयन, पर्यवेक्षण एवं मार्गदर्शन के लिए राज्य स्तर पर मंत्री स्तरीय समिति होगी, जिसके अध्यक्ष राज्य के मुख्यमंत्री तथा खेल एवं युवा कल्याण विभाग के मंत्री उपाध्यक्ष होंगे। राज्य स्तर पर कार्यकारिणी समिति के अध्यक्ष मुख्य सचिव, जिला स्तर पर कार्यकारिणी समिति के संरक्षक प्रभारी मंत्री तथा अध्यक्ष जिला कलेक्टर एवं उपाध्यक्ष पुलिस अधीक्षक होंगे। अनुभाग स्तर पर समिति के अध्यक्ष अनुविभागीय अधिकारी राजस्व होंगे। ग्राम पंचायतों में योजना के क्रियान्वयन का दायित्व अनुविभागीय अधिकारी एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत होंगे। नगरीय क्षेत्रों में क्रियान्यवन का दायित्व आयुक्त नगर निगम एवं सी.एम.ओ. नगरीय निकाय का होगा।