मणिपुर में उग्रवादी हमले में शहीद हुए कर्नल, पत्नी-बेटे का कल रायगढ़ में होगा अंतिम संस्कार

मणिपुर में उग्रवादी हमले में शहीद हुए कर्नल, पत्नी-बेटे का कल रायगढ़ में होगा अंतिम संस्कार

मणिपुर में उग्रवादी हमले में शहीद हुए रायगढ़ के रहने वाले कमांडिंग ऑफिसर कर्नल विप्लव त्रिपाठी (41) का शव आज रायपुर पहुंचेगा। विप्लव के शव के साथ उनकी पत्नी अनुजा शुक्ला (37) और 6 साल के बेटे अवीर त्रिपाठी का शव भी लाया जाएगा। बताया गया है कि शाम को करीब 6 बजे विप्लव त्रिपाठी का शव रायपुर विमानतल पहुंचेगा। यहां जवान पहले उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर देंगे। इसके बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल उन्हें श्रद्धाजंलि अर्पित करेंगे। विप्लव त्रिपाठी और उनके परिवार का अंतिम संस्कार सोमवार को रायगढ़ में किया जाएगा।

शनिवार को विप्लव अपने परिवार के साथ पोस्ट से लौट रहे थे। तभी उग्रवादियों ने उनकी गाड़ी पर हमला किया था। उग्रवादियों ने IED ब्लास्ट कर उनकी गाड़ी को ही उड़ा दिया था। इसके बाद विप्लव शहीद हो गए थे, उनकी पत्नी और बेटे की भी जान चली गई थी। विप्लव रायगढ़ के वरिष्ठ पत्रकार सुभाष त्रिपाठी के बड़े बेटे थे। शनिवार को सुभाष त्रिपाठी को विप्लव के मौत की खबर तब लगी थी, तब वह अपने परिवार के साथ थे।

शवों को रायपुर से सोमवार सुबह ही रायगढ़ ले जाया जाएगा। यहां शहर के रामलीला मैदान में विप्लव के शव को लोगों के अंतिम दर्शन के लिए रखा जाएगा। इसके बाद सर्किट हाउस के पास स्थित उनके शव का अंतिम संस्कार किया जाएगा। विप्लव को अंतिम विदाई देने असम राइफल्स के अफसर और कई जवान रायगढ़ पहुंच रहे हैं।

विप्लव और उनके परिवार के अंतिम संस्कार के मद्देनजर सोमवार को पूरा रायगढ़ शहर बंद रहेगा। सिनेमा घर और सभी प्रकार के व्यवसायिक संस्थान बंद रहेंगे। इधर, शनिवार से ही वरिष्ठ पत्रकार सुभाष त्रिपाठी के घर बाहर लोगों की भीड़ जमा है। घरवालों का रो-रोकर बुरा हाल है। धीर-धीरे उनके सभी रिश्तेदार भी रायगढ़ पहुंच गए हैं। वहीं विप्लव के छोटे भाई भाई अनय त्रिपाठी अपने मामा के साथ विप्लव का शव लेने रायपुर पहुंच गए हैं। अनय भी असम राइफल्स में लेफ्टिनेंट कर्नल हैं।