उद्योग मंत्री कवासी लखमा ने सुकमा में किया शबरी मार्ट का शुभारंभ, कहा-‘महिलाओं की सशक्तिकरण के लिए सरकार वचनबद्ध’

उद्योग मंत्री कवासी लखमा ने सुकमा में किया शबरी मार्ट का शुभारंभ, कहा-‘महिलाओं की सशक्तिकरण के लिए सरकार वचनबद्ध’

सुकमा। उद्योग मंत्री श्री कवासी लखमा ने कहा कि सरकार महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए वचनबद्ध है। महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। श्री लखमा ने आज सुकमा में ग्रामीण आजीविका मिशन योजना के अंतर्गत शक्ति महिला ग्राम संगठन रामाराम द्वारा शुरू की गई शबरी मार्ट का शुभारंभ किया।

इस अवसर पर मंत्री श्री लखमा ने समूह की महिलाओं को शुभकामनाएं और बधाई दी। श्री लखमा ने आगे कहा कि बिहान योजनांतर्गत जिले के अंदरूनी इलाके के ग्रामीण महिलाओं का समूह बनवा कर उन्हें आर्थिक गतिविधियों से जोडा जा रहा है। जिससे उनके जीवन स्तर में सुधार आ रहा है। इस दौरान मंत्री ने समूह की महिलाओं से आत्मीय बातचीत की और मार्ट में उत्पादों का अवलोकन किया।

शबरी मार्ट सुकमा जिला मुख्यालय में कलेक्टर निवास के पास खोला गया है। जिले के कलेक्टर ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में स्वरोजगार के लिए छोटी-छोटी वित्तीय मदद देने से स्वसहायता समूह काफी कारगार साबित हो रहे हैं। समूह की महिलाओं ने बताया कि शबरी मार्ट में उनके द्वारा तैयार किए गए विभिन्न उत्पाद जैसे शबरी मेडिमिक्स साबुन, शबरी इमली चस्का, शबरी सेनेटरी पेड सहित अनेक दैनिक उपयोग की विभिन्न वस्तुओं का विक्रय किफायती दर पर किया जा रहा है।

महिलाओं ने बताया कि पहले तैयार किए गए उत्पादों का विक्रय सरकारी कार्यालयों एवं हाट-बाजारों में किया जाता था। इसकी बढ़ती मांग को देखते हुए ग्राहकों को एक स्थायी स्थान देने के लिए दुकान प्रारंभ किया गया है। वस्तुओं के आर्डर हेतु मोबाईल नम्बर 700461458 और 7067395016 पर भी संपर्क किया जा सकता है।

समारोह की अध्यक्षता जिला पंचायत सुकमा के अध्यक्ष श्री हरीश कवासी ने किया। वहीं विशिष्ट अतिथि के रूप में जिला पंचायत सुकमा के उपाध्यक्ष श्री बोड्डू राजा, जनपद पंचायत सुकमा के अध्यक्ष श्रीमती आयती कलमू, नगर पालिका सुकमा के अध्यक्ष श्री जगन्नाथ साहू, जिला व जनपद पंचायत के सदस्यों सहित अन्य जनप्रतिनिधियों ने शबरी मार्ट की तारीफ करते हुये समूह की महिलाओं की हौसला अफजाई की। इस अवसर पर जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी सहित अन्य अधिकारी-कर्मचारी और महिला समूहों के सदस्यगण उपस्थित थे।