राज्य कृषक कल्याण परिषद के अध्यक्ष सुरेंद्र शर्मा ने कहा- मॉडलिंग में फेल होकर संत बना है कालीचरण, RSS का छोड़ा हुआ तीर

राज्य कृषक कल्याण परिषद के अध्यक्ष सुरेंद्र शर्मा ने कहा- मॉडलिंग में फेल होकर संत बना है कालीचरण, RSS का छोड़ा हुआ तीर

राजधानी रायपुर में आयोजित धर्म संसद में संत कालीचरण के महात्मा गांधी को अपशब्द कहने के बाद सियासी बयानबाजी का दौर शुरू हो गया है। बुधवार को बिलासपुर पहुंचे छत्तीसगढ़ राज्य कृषक कल्याण परिषद के अध्यक्ष सुरेंद्र शर्मा ने संत कालीचरण को RSS का छोड़ा हुआ तीर बताया है। उन्होंने कहा कि मॉडलिंग में फेल होने के बाद कालीचरण ने संत का रूपधारण किया है। छत्तीसगढ़ में इस तरह का काला कारनामा नहीं चलेगा। उसके खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए।

सुरेंद्र शर्मा यहां विभागीय समीक्षा बैठक लेने के बाद पत्रकारों से चर्चा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सत्य, अहिंसा और प्रेम का संदेश देने वाले गांधी जी को गाली देना कालीचरण का काला कारनामा था। उसे बहुत बड़ा दंड मिलना चाहिए। ताकि समाज में ऐसे कोई भी महापुरुषों पर अभद्र टिप्पणी करने से बचे। कालीचरण साधु नहीं है। वह रावण की तरह साधु बना और कालनेमी भी साधु बना था।

कांग्रेस की ओर से धर्म संसद के आयोजन के सवाल पर उन्होंने कहा कि बिल्कुल गलत है कि आयोजन कांग्रेस ने नहीं किया। बल्कि नीलकंठ त्रिपाठी सेवा समिति ने धर्म संसद का आयोजन किया था। हिंदू होने की वजह से हम जैसे लोग पहुंचे थे। यह भी नहीं कर सकते कि भाजपा आयोजक थी लेकिन बातचीत से ऐसा लगता है कि कालीचरण RSS का छोड़ा हुआ तीर है।

Leave a Reply