जशपुर हादसा : मुख्यमंत्री ने सड़क दुर्घटना में मृतक को 50 लाख रुपए मुआवजा देने की घोषणा की, 4 मरीजों का रायगढ़ में इलाज जारी, स्थिति पहले से बेहतर

जशपुर हादसा : मुख्यमंत्री ने सड़क दुर्घटना में मृतक को 50 लाख रुपए मुआवजा देने की घोषणा की, 4 मरीजों का रायगढ़ में इलाज जारी, स्थिति पहले से बेहतर

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने गत दिवस जशपुर जिले के पत्थलगांव विकासखंड में सड़क हादसे में मृतक स्व श्री गौरव अग्रवाल के परिजनों को 50 लाख रुपए मुआवजा देने की घोषणा की है।

उल्लेखनीय है कि पत्थलगांव विकासखण्ड में कल लगभग दोपहर 1 बजे के बीच संबलपुर से सिंगरोली जाने वाली कार के चालक ने दुर्गा विर्सजन जुलूस में शामिल लोगों के ऊपर वाहन चढ़ा दी।

दुर्घटना की सूचना मिलते ही पुलिस ने आरोपी को पकड़ कर जेल में डाल दिया है | इनमें आरोपी बबलू विश्वकर्मा उम्र 21 वर्ष निवासी बैढन और दूसरा आरोपी शिशु पाल साहू निवासी बरगवाम सिंघरोली शामिल हैं | साथ ही सड़क दुर्घटना में घायल व्यक्ति के प्रति मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल, जशपुर जिले के प्रभारी मंत्री श्री उमेश पटेल और पत्थलगांव विधायक श्री राम पुकार सिंह ने संवेदना व्यक्त करते हुए कलेक्टर से लगातार फोन से सम्पर्क कर घायल व्यक्तियों का हाल चाल जाना और प्रशासन को हर संभव प्रयास करने को कहा।

कलेक्टर श्री अग्रवाल ने बताया कि प्रशासन परिजनों के साथ खडी़ है। घायल लोगों का प्रशासन हर सभव सहायता कर रही है | उन्होंने कहा कि सड़क दुर्घटना में एक व्यक्ति की मृत्यु हो गईं हैं साथ ही घायल लोगो का ईलाज से किया जा रहा है । पुलिस अधीक्षक श्री विजय अग्रवाल ने बताया कि प्रशासन का पूरा अमला घायल को पूरा सहयोग प्रदान कर रहे हैं।

डाक्टरों ने जानकारी देते हुए बताया है कि 12 घायल मरीजों का ईलाज पत्थलगांव के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में किया जा रहा है और 4 घायल मरीजों को रायगढ़ के जिला चिकित्सालय रिफर किया गया | जिला प्रशासन परिजनों के साथ हर दुख के साथ खड़ी है | कलेक्टर ने कहा कि घायल मरीजों को किसी भी प्रकार की समस्या नहीं होने देगी | पुलिस प्रशासन ने लापरवाही बरतने वाले टी आई श्री संतलाल अयाम को लाइन अटैच कर दिया है वही एसआई श्री के. के. साहू को निलंबित कर दिया गया है.

जशपुर जिले के पत्थलगांव में सड़क दुर्घटना में घायल मरीजों के बेहतर उपचार के निर्देश मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने दिए हैं। घायल 04 मरीजों को बेहतर इलाज के लिए रायगढ़ रेफेर किया गया। जिसमें 03 मरीजों का मेडिकल कॉलेज अस्पताल में इलाज जारी है। उनकी स्थिति पहले से बेहतर है। एक मरीज के सिर में चोट आने पर उसका आपरेशन एक निजी अस्पताल में न्यूरोसर्जन द्वारा किया गया है तथा उसकी भी स्थिति पहले से बेहतर है। उसे उचित देख रेख के लिए आईसीयू में रखा गया है। डॉक्टर्स लगातार उनकी मॉनिटरिंग कर रहे हैं।