गरियाबंद : राजिम माघी पुन्नी मेला में छत्तीसगढ़ के सुप्रसिद्ध एवं स्थानीय लोक कलाकारों की होगी रंगारंग सांस्कृतिक प्रस्तुति,

गरियाबंद : राजिम माघी पुन्नी मेला में छत्तीसगढ़ के सुप्रसिद्ध एवं स्थानीय लोक कलाकारों की होगी रंगारंग सांस्कृतिक प्रस्तुति,

राजिम माघी पुन्नी मेला 2022 के मुख्य मंच पर छत्तीसगढ़ के सुप्रसिद्ध लोक गायकों और कलाकारों द्वारा राज्य के पारंपरिक कला एवं सांस्कृतिक और छत्तीसगढ़ वासियों के मन में रचे-बसे कार्यक्रमों की प्रतिदिन प्रस्तुति दी जायेगी। कलेक्टर नम्रता गांधी ने आज कलेक्टोरेट सभाकक्ष में अधिकारियों की बैठक में माघ पूर्णिमा 16 फरवरी से आयोजित होने वाले 15 दिवसीय राजिम माघी पुन्नी मेला की तैयारियों की व्यापक समीक्षा की। उन्होंने कहा कि मेले से संबंधित सभी व्यवस्थाएं मंगलवार की शाम 5 बजे तक सुनिश्चित किया जाए। कलेक्टर ने इस संबंध में अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए हैं।

कार्यक्रम के पहले दिन 16 फरवरी को शाम 6 बजे से रात्रि 7.30 बजे तक पंडवानी गायिका उषा बारले तथा रात्रि 8 बजे से रात्रि 10 बजे तक दिलीप षंढ़गी द्वारा प्रस्तुति से मेला की रंगारंग शुरूआत होगी। इसी तरह 01 मार्च महाशिवरात्रि तक प्रत्येक दिन तीन कार्यक्रमों की प्रस्तुति होगी।

दूसरे दिन 17 फरवरी को लोक प्रयाग राजिम तथा दिनेश जांगड़े द्वारा पंथी और महेश वर्मा द्वारा लोकमंच की प्रस्तुति दी जायेगी। तीसरे दिन 18 फरवरी को प्रसिद्ध भरथरी गायिका रजनी रजक, पंडवानी गायिका ऋतु वर्मा और भिलाई के रिखी क्षत्रीय द्वारा प्रस्तुति दी जायेगी। 19 फरवरी को लोक मंच, लोक सृजन तथा सुप्रसिद्ध गायिका छाया चन्द्राकर प्रस्तुति देंगे। 20 फरवरी को पंडवानी गायिका प्रभा यादव और गोपी चंदा तथा गोरेलाल बर्मन की प्रस्तुति होगी। 21 फरवरी को टिकेन्द्र वर्मा के लोकमंच तथा पूनम विराट प्रस्तुति देंगे। 22 फरवरी पंडवानी गायक चेतन देवांगन, भरथरी गायिका रेखा जलक्षत्री तथा खरोरा के चन्द्रभूषण वर्मा, 23 फरवरी को पद्मश्री आर.एस. बारले द्वारा पंथी नृत्य तथा दुर्ग के राग अनुराग, 24 फरवरी को पप्पु चन्द्राकर के लोकमंच एवं अनुराग धारा के माध्यम से कविता वासनिक प्रस्तुति देंगे। 25 फरवरी को लोक सरगम हिम्मत सिन्हा, अमृता बारले के भरथरी तथा दीपक चन्द्राकर के लोकरंग अर्जुन्दा की प्रस्तुति होगी। 26 फरवरी को लोकमंच कचरा-बोदरा एवं कोरिया के सुनील मानिकपुरी मुख्य आकर्षण होंगे। 27 फरवरी को शिवा जांगड़े के लोकमंच और चंदैनी गोंदा, 28 फरवरी को मीना साहू द्वारा पंडवानी, यशवंत डहरिया द्वारा पंथी एवं रायपुर के अनुराग शर्मा द्वारा प्रस्तुति दी जायेगी। कार्यक्रम के समापन दिवस पर पद्मश्री डॉ. ममता चन्द्राकर द्वारा तथा तरूण निषाद के लोकमंच कार्यक्रम आयोजित किया गया है।

समीक्षा के दौरान मुख्य मंच के समीप एक वृहद डोम में प्रतिदिन विभागीय योजनाओं व कार्यक्रमों को आकर्षक तरीके से प्रस्तुत किया जाएगा व सम्बंधित विभागीय हितग्राहियों को लाभान्वित किया जाएगा। उक्त आयोजन में विभागीय मंत्री भी शामिल होंगे। कलेक्टर ने विभाग द्वारा निर्धारित तिथि अनुसार सम्पूर्ण तैयारियों समय पूर्व करने के निर्देश दिये। इसके अलावा विभागों की 15 दिवसीय स्टाल लगेगा। यह प्रदर्शनी थीम आधारित होगी। सभी स्टॉल का कार्य मंगलवार शाम तक पूर्ण कर लिया जाए। बैठक में लोक निर्माण विभाग द्वारा सड़कों के मरम्मत और अस्थाई निर्माण तथा टेंट और बेरिकेड्स संबंधी समीक्षा की गई। इसी तरह पीएचई विभाग के अधिकारी को प्याऊ और पेयजल पाईप लाइन की सम्पूर्ण व्यवस्था समय पर पूर्ण करने के निर्देश दिये गये। कलेक्टर ने सौंपे गये कार्यो को तत्परतापूर्वक करने के निर्देश दिये। कलेक्टर ने आयोजन के दौरान होने वाले सांस्कृतिक कार्यक्रम और अन्य व्यवस्थाओं की विस्तार से चर्चा की। प्रतिदिन होने वाले विभागीय कार्यक्रमों के बारे भी निर्देश दिए।

Leave a Reply