गरियाबंद : बोनस की पहली किस्त से किसानों के चेहरे खिले : कोरोना संकट में मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल सहारा बने

गरियाबंद : बोनस की पहली किस्त से किसानों के चेहरे खिले : कोरोना संकट में मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल सहारा बने

छत्तीसगढ़ सरकार की महत्वाकांक्षी राजीव गांधी किसान न्याय योजना का शुभारंभ आज कर दिया गया है। लॉकडाउन और संकट के इस परिस्थिति में सरकार की यह योजना किसानों के लिए मददगार बन गया है। आज पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय राजीव गांधी के पुण्यतिथि के अवसर पर इस योजना की शुरूआत हुई। इससे सरकार द्वारा किये गये वादे की पहली किस्त किसानों के खाते में डीबीटी के माध्यम से सीधे पहुंची। इस निर्णय से जिले के किसानों में भी खुशी की लहर दिखाई दी। ग्राम बेंदकुरा के किसान सालिक राम, जोहन यादव और संजय चौहान ने बताया कि बोनस की पहली किस्त मिलने से आने वाले सीजन में हम आसानी से खेती किसानी का कार्य पूरा कर पायेंगे। ऐसे समय में जब लॉकडाउन है तब मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल सरकार का किया गया वादा हमारे लिए सहारा बन गया है। इसी तरह नागाबुड़ा के 9 एकड़ में खेती करने वाले किसान सीताराम यादव और ग्राम मरौदा के बिसेन ने भी संकट की इस घड़ी में खातों में पैसे आ जाने को लेकर खुशी जाहिर की है। नागाबुड़ा के ही चन्द्रभूषण चौहान ने बताया कि वे चार एकड़ में खेती करते है। बोनस की पहली किस्त मिलने से राहत मिली है। गरियाबंद के 9 एकड़ में खेती किसानी करने वाले रामजी साहू के पुत्र जीवन साहू ने बताया कि उन्होंने समर्थन मूल्य में लगभग 98 क्विंटल धान विक्रय किया था। इस तरह लगभग 67 हजार रूपये बोनस के रूप में मिलेगी। जिससे हम डबल फसल लेने और दलहन-तिलहन लगाने में उपयोग करेंगे। इसी तरह गरियाबंद के ही संतुराम विश्वकर्मा ने बताया कि एक एकड़ के किसानी में 13 क्विंटल धान समर्थन मूल्य पर बेचा था, इससे बोनस की शेष राशि करीब 8 हजार रूपये प्राप्त होगी। यह वाकई सरकार का राहतभरा फैसला है।