अमेरिकी यात्रा का पहला पड़ाव: छत्तीसगढ़ में निवेश के लिए मिले आशाजनक प्रस्ताव, मुख्यमंत्री बघेल बोस्टन में निवेशकों के साथ चर्चा करेंगे

अमेरिकी यात्रा का पहला पड़ाव: छत्तीसगढ़ में निवेश के लिए मिले आशाजनक प्रस्ताव, मुख्यमंत्री बघेल बोस्टन में निवेशकों के साथ चर्चा करेंगे

रायपुर | मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का अमेरिका प्रवास का पहला पड़ाव आज पूरा हो गया है। पहले पड़ाव में अमेरिकी निवेशकों से छत्तीसगढ़ में उद्योग लगाने के लिए अनेक आशा जनक प्रस्ताव मिले। यात्रा के अगले पड़ाव के लिए मुख्यमंत्री और छत्तीसगढ़ की टीम बोस्टन के लिए रवाना हुई। जहां बघेल इंस्टीट्यूट फार कॉम्पीटिटीवनेस में वहां के औद्योगिक प्रतिनिधियों से छत्तीसगढ़ निवेश करने के लिए उन्हें आमंत्रित करेंगे।

यात्रा के पहले पड़ाव में मुख्यमंत्री बघेल ने सेनफ्रांसिस्को के सिलिकॉन वेली और रेड वुड शोर्स में ऑटो ग्रिड सिस्टम के औद्योगिक प्रतिनिधियों और निवेशकों से सीधी चर्चा की थी। वहां उन्होंने जानकारी दी कि छत्तीसगढ़ ’ईज ऑफ डूइंग बिजनेस’ के लिए भारत में शीर्ष राज्यों में शामिल हैै। उन्होंने वहां निवेशकों को बताया कि छत्तीसगढ़ निवेश करने के लिए सबसे अच्छी जगह है क्योंकि यह केंद्र में स्थित है और यहाँ बेहतर कनेक्टिविटी है।

Video: अमेरिका के सैन फ्रांसिस्को में मुख्यमंत्री भूपेश के सामने गूंजा ‘छत्तीसगढ़िया सबले बढ़िया’ का नारा

राज्य की नई औद्योगिक नीति निवेशकों के लिए काफी अनुकूल है। चर्चा के दौरान अनेक भारतीय-अमेरिकी उद्योगों ने छत्तीसगढ़ में निवेश के लिए गहरी दिलचस्पी दिखाई। वहाँ लगभग 250 निवेशक इस चर्चा में शामिल हुए।

यात्रा के इस पड़ाव में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अमेरिका के सेन फ्रांसिस्को के इंडिया कम्युनिटी सेंटर, सेनजोस में ज्प्म् सिलिकॉन वेली द्वारा आयोजित सम्मेलन में भारतीय समुदाय के लोगों को सम्बोधित किया और छत्तीसगढ़ में निवेश से संबंधित विभिन्न पहलुओं पर पूछे गए सवालों का जवाब दिया। उन्होंने छत्तीसगढ़ एसोसिएशन ऑफ नॉर्थ अमेरिका के सदस्यों से भी मुलाकात की। श्री बघेल ने छत्तीसगढ़ के अधिकारियों के साथ दुनिया की सबसे बड़ी डेटा सेंटर कंपनी-इक्विनिक्स का भ्रमण किया।

उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री बघेल 15 और 16 फरवरी को हार्वड यूनिवर्सिटी में आयोजित इंडिया कान्फ्रेंस में हिस्सा लेंगे जहां वे 15 फरवरी को प्रजातांत्रिक भारत में जाति और राजनैतिक विषय पर अपने विचार रखेंगे।