भेंट-मुलाकात अभियान : रामानुजगंज विधानसभा केे ग्राम डौरा पहुंचे मुख्यमंत्री

भेंट-मुलाकात अभियान : रामानुजगंज विधानसभा केे ग्राम डौरा पहुंचे मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल आज भेंट-मुलाकात अभियान के दूसरे दिन रामानुजगंज विधानसभा के ग्राम डौरा पहुंचे। उन्होंने डौरा में आम जनता की मांग पर अनेक महत्वपूर्ण घोषणाएं की। मुख्यमंत्री ने डौरा में स्वामी आत्मानन्द स्कूल, रनहत में महाविद्यालय खोलने, सासु नदी में पुलिया निर्माण, दलधोवा से सरस्वती पुल के बीच पुलिया निर्माण की घोषणा की।

इसके साथ ही साथ मुख्यमंत्री ने ग्रामीणों की मांग पर डौरा और गणेश मोड़ के बीच विद्युत सब स्टेशन की भी घोषणा की। खंडा के ग्रामीणों ने बताया उनके गांव में सड़क नहीं है, बिजली की भी समस्या है। इस पर मुख्यमंत्री ने कलेक्टर को जल्द से जल्द ग्राम खंडा में बिजली पहुँचाने और सड़क बनाने के निर्देश दिए। इसी तरह उन्होंने पौनी-पेण्ड्री के ग्रामीणों की मांग पर तत्काल सड़क बनाने के निर्देश कलेक्टर को दिए। इस अवसर पर नगरीय प्रशासन एवं विकास मंत्री डॉ. शिव कुमार डहरिया, विधायक श्री बृहस्पत सिंह, मुख्य सचिव श्री अमिताभ जैन, अपर मुख्य सचिव श्री सुब्रत साहू भी उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री ने बुजुर्ग महिला को मौके पर बनवाकर दिया नया राशन कार्ड: कबिलासो दाई ने दोनों हाथ उठाकर दिया आशीर्वाद

डौरा में आयोजित भेंट-मुलाकात कार्यक्रम में 67 वर्षीय बुजुर्ग महिला कबिलासो दाई ने मुख्यमंत्री से उनका राशन कार्ड बनवाने की गुहार लगाई। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को तत्काल नया राशन कार्ड बनाने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री के निर्देश पर आधे घंटे के भीतर ही महिला का राशनकार्ड बन गया। मुख्यमंत्री ने राशनकार्ड देते हुए बुजुर्ग महिला से पूछा अब तो खुश हो दाई। राशन कार्ड मिलने पर कबिलासो दाई भावुक हो उठी और उनके दोनों हाथ आशीर्वाद देने के लिए मुख्यमंत्री के सर पर रख दिये। मुख्यमंत्री की संवेदनशीलता देखते ही चौपाल तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज उठी। कबिलासो दाई ने कहा कि मुख्यमंत्री बघेल ला आशीर्वाद देंत हों, बघेल बहुत बने हे, आज तुरन्त मोर काम हो गे हे।

महिलाओं ने तेंदू, कोयनार भाजी, महुआ लड्डू, कसार लड्डू, ठेठरी, खुरमी भेंट की

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल को ग्राम डौरा में समूह की महिलाओं ने तेंदू, कोयनार भाजी, महुआ लड्डू, कसार लड्डू, ठेठरी, खुरमी, कच्चा आम भेंट किया, जिसे उन्होंने बड़े चाव से खाया भी।

मुख्यमंत्री श्री बघेल ने भेंट-मुलाकात के दौरान आम जनता को संबोधित करते हुए कहा कि राजीव गांधी किसान न्याय योजना की अगली किश्त का भुगतान स्वर्गीय श्री राजीव गांधी की पुण्यतिथि पर 21 मई को किया जाएगा। राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना शुरू की गई है जिसमें 2 किश्तों का भुगतान किया जा चुका है। अब इस योजना में हितग्राहियों को 7 हजार रूपए सालाना दिए जाएंगे। मुख्यमंत्री ने चौपाल में उपस्थित ग्रामीणों से इन दोनों योजनाओं के संबंध में जानकारी ली। चौपाल में उपस्थित हितग्राहियों ने बताया कि उन्हें इन योजनाओं की राशि प्राप्त हो गई है। श्री बघेल ने बताया कि यह पौनी-पसारी करने वाले नाई, धोबी व पुजारी को भी इस योजना का लाभ मिलेगा। विधायक बृहस्पत सिंह के आग्रह पर ग्राम डौरा क्षेत्र में पूजा स्थल माडर में पूजा करने वाले बैगा को भी राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना में शामिल करने की सहमति दी। मुख्यमंत्री ने चौपाल में उपस्थित किसानोें से नरवा योजना के बारे में पूछा।

उपस्थित किसानों ने बताया कि बैरामु नाले में और सरगड़ी में नाले में नरवा योजना क्रियान्वित की जा रही है, इससे नाले में हमेशा पानी रहता है। मुख्यमंत्री ने खुशी जाहिर करते हुए कहा कि इस योजना से जंगल की हरियाली बनी रहती है और किसानों को सिंचाई के लिए पानी मितला है, पशु-पक्षी भी आस-पास आते रहते हैं। अतः इस योजना को प्राथमिकता से लें। श्री बघेल ने कहा कि हम बड़े-बड़े बांध नहीं बनाएंगे बल्कि छोटे-छोटे नाले को रिचार्ज करेंगे। हमने करीब 30 हजार नालों को इस योजना के तहत लिया है। मुख्यमंत्री ने गौठानों के संबंध में जानकारी ली। इसी दौरान ग्राम करकेता के निवासी रामेश्वर यादव से चर्चा के दौरान मुख्यमंत्री ने सरसो और मक्के की खेती की जानकारी ली। श्री यादव ने बताया कि उनके क्षेत्र में पर्याप्त मात्रा में सरसों की खेती होती है। मुख्यमंत्री ने श्री यादव को सरसो का तेल निकालने और मुर्गी के दाने बनाने वाली मशीन देने के निर्देश दिए। साथ ही कहा कि मशीन देने के साथ-साथ इस क्षेत्र के युवाओं को प्रशिक्षण भी दें।

मुख्यमंत्री ने नवगठित तहसील डौरा-कोचली का किया निरीक्षण 
मुख्यमंत्री ने ग्राम डौरा पहुंचते ही सर्वप्रथम नवगठित तहसील डौरा-कोचली का निरीक्षण किया। उन्होंने सीमांकन, नामांतरण और बटांकन के प्रकरणों की जानकारी ली। श्री बघेल ने कहा कि राजस्व प्रकरण व्यक्तिगत एवं परिवार हित से जुड़े हुए होते हैं। इन से संबंधित आवेदनों का समय सीमा में प्राथमिकता के साथ निराकरण करें।

मुख्यमंत्री श्री बघेल ने नक्शे, अभिलेख को दुरस्त करने और लंबित प्रकरणों का शीघ्र निराकरण करने के निर्देश दिये। नक्शा दुरुस्ती में देरी पर सीएम ने नाराजगी जतायी। उन्होंने कहा कि नामांतरण में रिकॉर्ड दुरस्त होते ही नक्शा भी अपडेट करें।