धमतरी में मिला 10 किलो का IED विस्फोटक, नक्सलियों ने जवानों को निशाना बनाने के लिए लगाया था, समय रहते किया डिफ्यूज

धमतरी में मिला 10 किलो का IED विस्फोटक, नक्सलियों ने जवानों को निशाना बनाने के लिए लगाया था, समय रहते किया डिफ्यूज

छत्तीसगढ़ के बस्तर में सुरक्षाबलों के बढ़ते दबाव के बाद अब नक्सली प्रदेश के दूसरे जिलों में पहुंचने लगे हैं। अब ये पता चला है कि नक्सलियों ने रायपुर से 65 किलोमीटर दूर धमतरी जिले में जवानों को नुकसान पहुंचाने के लिए 10 किलो का IED प्लांट किया था। इसे जवानों ने समय रहते डिफ्यूज कर दिया। मामला सिहावा थाना क्षेत्र का है। इसके तीन महीने पहले नक्सलियों ने एक युवक की भी हत्या कर दी थी।

SP प्रफुल्ल ठाकुर ने बताया कि पुलिस को सुबह आईईडी मिलने की सूचना मुखबिर से मिली थी। सिहावा थाना इलाके के सांकरा से लगभग 8 किमी की दूरी पर खल्लारी थाना जाने के मार्ग पर भीरागहीन के पास आईईडी प्लांट किया है। सूचना के आधार पर सिहावा, नगरी पुलिस, डीआरजी और बीडीएस, डॉग स्क्वॉड की टीम मौके पर पहुंची थी।

बड़ी घटना घट सकती थी
जानकारी के मुताबिक ये रास्ता खल्लारी जाने का मुख्य मार्ग है। यहां से बड़ी संख्या में लोग आना जाना करते हैं। बड़े वाहन भी इसी रास्ते से गुजरते हैं। ऐसे में यदि ये ब्लास्ट होता तो बड़ी घटना घट सकती थी, लेकिन जवानों की चौकसी के कारण समय रहते आईईडी को डिफ्यूज कर दिया गया है। इसी रास्ते से पुलिस की टीम भी खल्लारी थाने जाती है।

युवक को घर से उठा ले गए थे
तीन महीन पहले जिले में नक्सलियों ने एक युवक की हत्या की थी। उस दौरान रात को कुछ वर्दीधारी नक्सली खल्लारी थाना क्षेत्र के आमझर में पहुंचे थे। यहां से नक्सलियों ने सीताराम नेताम को उसके घर से अगवा कर लिया था। इसके बाद उसकी हत्या कर दी थी। अगले दिन उसका शव गांव के पास ही पड़ा हुआ मिला था। धमतरी राजधानी रायपुर से लगा हुआ इलाका है। नक्सलियों का यहां लगातार वारदात करना और ऐसे मुख्यमार्ग पर IED लगाने ने चिंता बढ़ा दी है।