मुख्यमंत्री युवा स्व-रोजगार योजना : तमाम चुनौतियों को पार कर एक सफल व्यापारी

मुख्यमंत्री युवा स्व-रोजगार योजना : तमाम चुनौतियों को पार कर एक सफल व्यापारी

दूरस्थ ग्रामीण क्षेत्र में हार्डवेयर का व्यापार स्थापित कर एक सफल व्यापारी बनना किसी के लिए भी चुनौती से कम नहीं है। यह चुनौती तब और बढ़ जाती है जब जब आपके पास पूंजी का अभाव है और व्यापार का अनुभव नहीं है। लेकिन तमाम चुनौतियों का सामना करते हुए श्री नितिन टांडे ने अपनी लगन और मुख्यमंत्री युवा स्व-रोजगार योजना की सहायता से हार्डवेयर का व्यापार स्थापित कर न केवल इस क्षेत्र में सफलता हासिल की है, बल्कि लोगों के लिए भी प्रेरणा का काम कर रहे हैं। श्री टांडे ने बताया कि मुख्यमंत्री युवा स्व-रोजगार योजना अर्न्तगत मिले ऋण की मदद से उन्होंने अपना व्यापार स्थापित किया है, जिससे उसकी बेरोजगारी भी दूर हुई है और परिवार की जरूरतों को भी पूरा कर पा रहे हैं।

रायगढ़ जिले के सारंगढ़ के दूरस्थ क्षेत्र में स्थित ग्राम पचपेड़ी निवासी श्री नितिन प्राथमिक शिक्षा के पश्चात हार्डवेयर का दुकान प्रारंभ करना चाहते थे। उनके सामने आर्थिक समस्या सबसे बड़ी चुनौती थी, जिसके लिए श्री टांडे ने ऋण के लिए काफी प्रयास किया, लेकिन जानकारी के अभाव में उन्हें ऋण नहीं मिल पा रहा था। इसी दौरान जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र रायगढ़ से लाभान्वित हितग्राही से उसकी मुलाकात हुई एवं योजना की जानकारी मिली। उन्होंने जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र रायगढ़ से संपर्क कर योजना की विस्तृत जानकारी एवं मार्गदर्शन मिला। श्री टांडे द्वारा वर्ष 2018-19 अंतर्गत मुख्यमंत्री युवा स्व-रोजगार योजना अर्न्तगत आवेदन किया गया। इस योजना के अंतर्गत श्री नितिन को  बैंक के माध्यम से 2 लाख रूपए का ऋण प्राप्त हुआ। इसकी मदद से उन्होंने ग्राम पचपेड़ी में हार्डवेयर का व्यवसाय प्रारंभ किया। आज उनका व्यवसाय सफलतापूर्वक चल रहा है। श्री टांडे अपने साथ दो अन्य लोगों को भी रोजगार उपलब्ध करा रहे हैं। श्री टांडे ने बताया कि वे बैंक किश्त का नियमित भुगतान कर रहे है और प्रतिमाह लगभग 25 हजार रुपए का लाभ भी अर्जित कर रहे हैं। श्री टांडे ने इस योजना के लिए शासन-प्रशासन को धन्यवाद ज्ञापित किया है।