लखीमपुर मामला : दिल्ली पहुंचे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, करेंगे छग के विधायकों से मुलाकात, उप्र सरकार बर्खास्त करने की मांग

लखीमपुर मामला : दिल्ली पहुंचे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, करेंगे छग के विधायकों से मुलाकात, उप्र सरकार बर्खास्त करने की मांग

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में किसान आंदोलन में हिंसा के दौरान 9 लोगों की मौत के बाद मचे बवाल के बीच छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल दिल्ली पहुंच गए हैं। वह सीधे कांग्रेस के राष्ट्रीय मुख्यालय पहुंचे। वहां उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। बाद में वरिष्ठ नेताओं के साथ उत्तर प्रदेश में पार्टी की अगली रणनीति पर चर्चा हुई। मुख्यमंत्री ने कहा कि रविवार की घटना के बाद उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार और केंद्रीय राज्यमंत्री को बर्खास्त कर देना चाहिए।

दिल्ली जाने से पहले रायपुर एयरपोर्ट पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, ‘मैं यूपी जा रहा था। लेकिन, मुझे लखनऊ एयरपोर्ट पर उतरने की इजाजत नहीं दी गई। क्या यूपी में लोगों के साथ खड़े होने पर प्रतिबंध है? क्या यूपी जाने के लिए अब वीजा लेने की जरूरत है? भाजपा अपने विरोधियों को कुचल देना चाहती है। जो सामने आए उसे गोली से भून देना, ये इनकी रणनीति है। जो लखीमपुर की घटना से यह स्पष्ट है।’

मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि जिस प्रकार हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर का बयान आया वो सबको समाप्त कर देना चाहते हैं। उनके सामने विरोध का स्वर होना ही नहीं चहिए। यह निरंकुशता की निशानी है। ये तानाशाही रवैया है। बघेल ने कहा कि जिस प्रकार उत्तर प्रदेश में हो रहा है उसमें योगी आदित्यनाथ की पूरी सरकार को बर्खास्त कर देना चाहिए। केंद्रीय गृहमंत्री जिस तरह अपने बेटे का बचाव कर रहे हैं, उन्हें भी तत्काल बर्खास्त कर दे देना चाहिए।

बघेल ने कहा कि जिस प्रकार से प्रियंका गांधी को हिरासत में लिया गया है, वो निंदनीय है। सीतापुर में उन्हें रोका गया पुलिस के पास कोई अरेस्ट वारंट नहीं था। यूपी की पुलिस गुंडागर्दी कर रही है। विपक्ष के नेताओं को घर मे नजरबंद किया जा रहा है। यह ठीक नहीं है। आप विपक्ष को जनता से मिलने से कैसे रोक सकते हैं।