मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा: नए कोराेना स्ट्रेन का इलाज प्रोटोकाल तय नहीं, इसलिए ज्यादा घातक

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा: नए कोराेना स्ट्रेन का इलाज प्रोटोकाल तय नहीं, इसलिए ज्यादा घातक

सीएम भूपेश बघेल ने कहा कि कोराेना वायरस का दूसरा स्ट्रेन पहले की तुलना में ज्यादा घातक साबित हो रहा है। पहले स्ट्रेन के लिए केंद्र सरकार ने इलाज का प्रोटोकाल जारी किया था, लेकिन इस बार प्रोटोकाल जारी नहीं किया गया, इसलिए सभी राज्य अपने हिसाब से इलाज कर रहे हैं। रेमडेसिविर भी सबके लिए जरूरी नहीं है, फिर भी लोग इसके पीछे भाग रहे हैं। इस बार लक्षण भी अलग-अलग आ रहे हैं, इसलिए इसका रिसर्च भी होना चाहिए। सीएम ने भाजपा नेताओं पर भ्रम फैलाने के आरोप भी लगाए हैं।

मीडिया से बातचीत में सीएम भूपेश ने कहा कि संक्रमण की दर में पिछले साल की तुलना में कई गुना वृद्धि हो रही है। पिछले साल सितंबर में हम 3800 पहुंच गए थे, लेकिन इस बार मार्च में संक्रमण दर 30% ज्यादा पहुंच गया है। उन्होंने इस बात से इंकार नहीं किया कि रेमडेसिविर की जितनी प्रदेश में जरूरत है उतना स्टाक नहीं है, इसलिए महाराष्ट्र, तेलंगाना के बाद गुजरात भी एक अफसर को भेजा गया है। सीएम ने कहा कि वर्तमान में हम 5 हजार से ज्यादा लोगों को ऑक्सीजन दे रहे हैं। कुल 210 टन उत्पादन में 110 टन का उपयोग कर रहे हैं। सीएम ने कहा कि कोराेना से डरने नहीं बल्कि साहस के साथ मुकाबला करने की जरूरत है।

Leave a Reply