मुख्यमंत्री कृषि मंत्री ने गौठानों को पैरादान करने वाले किसानों को दिया धन्यवाद

मुख्यमंत्री कृषि मंत्री ने गौठानों को पैरादान करने वाले किसानों को दिया धन्यवाद

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल एवं कृषि मंत्री श्री रविन्द्र चौबे ने गौठानों में पशुधन के चारे की व्यवस्था के लिए पैरा-दान करने वाले राज्य के किसान भाईयों को धन्यवाद दिया है। मुख्यमंत्री ने कहा है कि उनकी अपील का राज्य के किसान भाईयों ने न सिर्फ मान रखा है, बल्कि इस साल पराली भी नहीं जलाई है। मुख्यमंत्री ने कहा है कि राज्य के किसान भाईयों ने अभी तक 15 लाख 67 हजार 507 क्विंटल पैरा का दान गौठान में पशुधन के चारे के लिए प्रबंध के लिए किया है, यह खुशी की बात है।

यहां यह उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री श्री बघेल एवं कृषि मंत्री श्री चौबे ने राज्य के किसान भाईयों से गौठानों को पैरादान करने और खेतों में पराली न जलाने की अपील की थी। उन्होंने किसानों के नाम जारी अपील में कहा था कि पशुधन के लिए गौठानों में सूखे चारे का पर्याप्त प्रबंध हो सके, इसके लिए खेतों में पैरा को जलाने की बजाय अपने गांव की गौठान समिति को पैरा-दान करें। इससे गोधन के लिए चारे का इंतजाम करने में समितियों को आसानी होगी।

रायपुर संभाग के किसानों द्वारा अब तक गौठानों को तीन लाख 69 हजार 600 क्विंटल, दुर्ग संभाग के किसानों द्वारा 3 लाख 80 हजार 361, बिलासपुर संभाग की गौठानों में 6 लाख 10 हजार 765, सरगुजा संभाग में 74 हजार 787 तथा बस्तर संभाग के किसानों द्वारा गौठान समितियों को 1 लाख 31 हजार 994 क्विंटल पैरादान किया गया है। राज्य के गौठानों को इस प्रकार किसानों द्वारा दान किए गए 15 लाख 67 हजार 507 क्विंटल पैरा का मूल्य लगभग 31 करोड़ 35 लाख रूपए है।