जिला अस्पताल से बच्चा चोरी करने वाली महिला गिरफ्तार, 10 हजार रुपए के लालच में किया था चोरी

जिला अस्पताल से बच्चा चोरी करने वाली महिला गिरफ्तार, 10 हजार रुपए के लालच में किया था चोरी

जशपुरनगर | छत्तीसगढ़ के जशपुर जिला अस्पताल से 6 दिन के नवजात को चोरी करने वाली महिला को पुलिस ने बुधवार को गिरफ्तार कर लिया। वह बस से भागने की फिराक में थी। इसी दौरान लोदाम की आरक्षक जया पैकरा की नजर उसके ऊपर पड़ गई। उन्होंने पेट्रोलिंग टीम से संपर्क किया और महिला को पकड़ लिया गया।

महिला ने यह बच्चा रांची के होटल में काम करने वाली सहयोगी के लिए चोरी किया था। इसके बदले उसे 10 हजार रुपए मिलने थे। बच्चे को 11 फरवरी को चोरी किया गया था।

एसपी शंकर लाल बघेल ने बताया कि झारखंड के महुआडांड़ निवासी प्रमिला टोप्पो किसी रिश्तेदार के माध्यम से जशपुर पहुंची थी। वह मंगलवार को जिला अस्पताल गई। वहां पर रायकोना की चंद्रमुनि बाई अपने 6 दिन के बच्चे के साथ उसी दिन जिला चिकित्सालय में भर्ती हुई थी। प्रमिला टोप्पो ने चंद्रमुनि को बातों में उलझाकर उससे बच्चे को अपनी गोद में ले लिया।

थोड़ी देर बाद चंद्रमुनि को किसी चिकित्सीय काम के लिए दूसरे कक्ष में जाना पड़ा। इसी दौरान आरोपी प्रमिला बच्चे को लेकर भाग निकली। अस्पताल के सीसीटीवी में प्रमिला की फुटेज बच्चे को ले जाते हुए कैद हुई थी। अगले दिन बुधवार दोपहर करीब 12 बजे महिला आरक्षक जया पैकरा की नजर लोदाम के बस स्टैंड में प्रमिला पर पड़ी।

वह बच्चे को साथ लिए थी और बस का इंतजार कर रही थी। जया पैंकरा ने पुलिस की पेट्रोलिंग पार्टी से संपर्क किया और महिला को बच्चे के साथ पकड़ लिया गया। पुलिस ने नवजात को मां के सुपुर्द कर दिया है। वहीं प्रमिला पर मामला दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है।

पहले अस्पताल में कर चुकी थी रेकी

प्रमिला टोप्पो ने बताया कि वह रांची के सागर होटल में काम करती है और उसके साथ एक अन्य महिला भी काम करती है। प्रमिला के साथ काम करने वाली महिला का कोई बच्चा नहीं है। महिला ने बच्चे के बदले उसे 10 हजार रुपए देने की बात कही थी। पुलिस ने बताया कि मामले में यह बात भी सामने आई की आरोपी 8 फरवरी को भी जशपुर आई थी और जिला अस्पताल की पूरी तरह से रेकी कर वापस चली गई थी। इसके बाद मंगलवार को एक बार फिर अस्पताल पहुंची और वहां से बच्चा चोरी कर कर फरार हो गई।