छत्तीसगढ़ ने रोकी रैपिड टेस्ट किट की सप्लाई; संक्रमण के खिलाफ लड़ रहे पुलिस जवानों का होगा कोरोना टेस्ट

छत्तीसगढ़ ने रोकी रैपिड टेस्ट किट की सप्लाई; संक्रमण के खिलाफ लड़ रहे पुलिस जवानों का होगा कोरोना टेस्ट

रायपुर. छत्तीसगढ़ सरकार ने रैपिड टेस्ट किट की दूसरी और अंतिम खेप पर रोक लगा दी है। सरकार ने निर्णय लिया है कि पहले मिली 25 हजार किट की जांच हो जाने के बाद बाकी की किट को लेकर फैसला लिया जाएगा। टेस्टिंग किट की यह सप्लाई दो दिनों के लिए रोकी गई है। अभी राज्य को 50 हजार किट मिलना बाकी है। वहीं कोरोना के खिलाफ लड़ाई में लगे सभी पुलिस जवानों का टेस्ट कराया जाएगा।

स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने बताया कि अभी 25000 किट का उपयोग किया जा रहा है। इनमें से ज़्यादातर कटघोरा भेजी गई है। आईसीएमआर की गाइडलाइन के अनुसार, उससे टेस्टिंग की जाएगी। अगर कोई गड़बड़ी आती है तो बची हुई किट की खरीद नहीं की जाएगी। उन्होंने बताया कि दो दिनों में पता चल जाएगा की सप्लाई के मानक में है कि नहीं। परखने के बाद आगे की डिमांड भेजी जाएगी।

प्रधानमंत्री से चर्चा में नहीं शामिल था छत्तीसगढ़ 
मंत्री सिंहदेव ने बताया कि प्रधानमंत्री ने कांफ्रेंसिंग के दौरान कहा कि कोरोना हमारे बीच रहेगा। लॉकडाउन को अपने जीवन का हिस्से के रूप में अपना कर चलना होगा। नियमों का और कड़ाई से पालन करना जरूरी है। प्रधानमंत्री ने ग्रीन, ऑरेंज, रेड जोन के लिए अलग-अलग नीति बनाने की बात कही है। उन्होंने लॉक डाउन को शिथिल करने की बात नहीं कही है। मंत्री सिंहदेव ने बताया कि प्रधानमंत्री से 9 राज्यों के सीएम की चर्चा थी। इसमें छत्तीसगढ़ शामिल नहीं था।

अन्य राज्यों को देखते हुए पुलिसकर्मियों की जांच के निर्देश
डीजीपी डीएम अवस्थी ने लॉकडाउन में चौराहों, पिकेट्स, पेट्रोलिंग और अस्पतालों की ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मियों का कोरोना टेस्ट करवाने के निर्देश दिए हैं। इसके लिए सभी राज्यों के पुलिस अधीक्षकों काे निर्देशित किया गया है। कई राज्यों में पुलिस पेट्रोलिंग में तैनात जवान कोरोना के संक्रमण की चपेट में आए हैं। इसे देखते हुए प्रदेश में यह एहतियाती कदम उठाए जाने के निर्देश दिए गए हैं।