रायपुर : केन्द्र सरकार से एफसीआई में चावल जमा करने की अनुमति जल्द मिले तो धान खरीदी व्यवस्था और बेहतर होगी: मुख्यमंत्री श्री बघेल

रायपुर : केन्द्र सरकार से एफसीआई में चावल जमा करने की अनुमति जल्द मिले तो धान खरीदी व्यवस्था और बेहतर होगी: मुख्यमंत्री श्री बघेल

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल आज पामगढ़ में आयोजित गुरु घासीदास जयंती कार्यक्रम में शामिल हुए

पामगढ़ के पहले विधायक श्री बाहुरिक लाल सूर्यवंशी के नाम पर होगा पामगढ के चौक का नामकरण

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कहा है कि केन्द्र सरकार से एफसीआई में जमा चावल  शुरू करने की जल्द अनुमति मिले तो छत्तीसगढ़ में समर्थन मूल्य पर धान खरीदने की व्यवस्था और बेहतर हो जाएगी। चावल जमा करने की अनुमति मिलने से मिलिंग के लिए धान का उठाव होगा और खरीदी केन्द्रों पर धान के लिए जगह मिल जाएगी। उन्होंने कहा कि धान खरीदी को सुचारू रूप से जारी रखने के लिए बारदाने का भी पर्याप्त संख्या में प्रबंध किया जा रहा है। पीडीएस से बारदाना लिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि व्यापारियों के बारदानों को भी उपयोग के लिए लिया गया है। किसानों को समर्थन मूल्य पर धान बेचने के लिए किसी भी प्रकार की दिक्कत ना हो, इसका पूरा ध्यान रखा जा रहा है। मुख्यमंत्री श्री बघेल आज जांजगीर-चांपा जिले के ग्राम पंचायत पामगढ़ में आयोजित गुरूघासीदास जयंती समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने पामगढ़ के चौक का नाम पामगढ़ विधानसभा क्षेत्र के प्रथम विधायक श्री बाहुरिक लाल सूर्यवंशी के नाम पर रखने की घोषणा भी की।
मुख्यमंत्री ने अपार जनसमुदाय एवं बाबा गुरूघासीदास जी के अनुयायियों को संबोधित करते हुए कहा कि गुरूघासीदास ने सामाजिक एकता का संदेश दिया है। आपसी भाईचारा और शांति के पथ पर चलने के लिए प्रेरित किया है। उन्होंने मनखे-मनखे एक समान का नारा देकर समाज की एकता के लिए मार्ग प्रशस्त किया है। कार्यक्रम की शुरूआत राज गीत अरपा पैरी के धार से हुयी। मुख्यमंत्री सहित उपस्थित अतिथियों ने बाबा गुरू घासीदास एवं जैतखंभ की पूजा अर्चना कर प्रदेशवासियों के खुशहाली की कामना की।
मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि किसानों को आर्थिक रूप से सक्षम बनाने के लिए राज्य सरकार ने राजीव गांधी न्याय योजना के माध्यम से प्रति एकड़ दस हजार रूपए देना प्रारंभ किया है। जिसकी तीन किस्त किसानों को मिलने से खुशहाली का माहौल है। गांव में गौठान बनाकर गोबर को दो रूपए में खरीदने के लिए गोधन न्याय योजना बनाकर गौमाता की सेवा करने वाला छत्तीसगढ़ देश का पहला राज्य है। मुख्यमंत्री ने कहा कि किसान फसल काटने के बाद पैरा को गौमाता की सेवा के लिए गौठान में पैरा दान कर सकते हैं। खेत में पैरा जलाने से भूमि की उर्वरा शक्ति नष्ट हो जाती है साथ ही पर्यावरण को भी नुकसान होता है।
मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कहा कि अनुसूचित जाति जनजाति के उत्थान के लिए अनेक कदम उठाए गए हैं। बाबा गुरूघासीदास के विचार को जन-जन तक पहुंचाने एवं संस्कृति को सहेजने के लिए नया रायपुर में गुरूघासीदास संग्रहालय एवं शोधपीठ की स्थापना भी की जाएगी। श्री बघेल ने बताया कि स्वास्थ्य सुविधा को बेहतर बनाने के लिए मिनीमाता के नाम पर ब्लाक स्तर पर डायग्नोस्टिक सेंटर बनाए जाएंगे। संेटर में खून, पेशाब जांच, एक्स-रे से लेकर स्वास्थ्य संबंधी अनेको जांच की सुविधाएं उपलब्ध रहेगी। आमजनों को निःशुल्क उपचार की सुविधा भी उपलब्ध होगी।
कार्यक्रम को नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिव कुमार डहरिया, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी एवं ग्रामोद्योग मंत्री श्री गुरु रुद्र कुमार, राज्य गौ सेवा आयोग के अध्यक्ष महंत राजेश्री राम सुंदर दास, विधायक पामगढ़ श्रीमती इंदु बंजारे ने भी संबोधित किया।

Leave a Reply