छत्तीसगढ़ में पिछले 24 घंटो में मिले 5 हजार से ज्यादा कोरोना मरीज, 8 की मौत

छत्तीसगढ़ में पिछले 24 घंटो में मिले 5 हजार से ज्यादा कोरोना मरीज, 8 की मौत

छत्तीसगढ़ में आज शुक्रवार को फिर प्रदेश में 5 हजार से ज्यादा संक्रमित मिले। कुल टेस्ट 47 हजार 124 हुए। इस तरह पॉजिटिविटी रेट 10.67 प्रतिशत रहा। फिर सबसे ज्यादा मरीज रायपुर में मिले। इनकी संख्या 1 हजार 183 रही। मौत के आंकड़े में कमी दिखाई दी। शुक्रवार को प्रदेश में कुल 8 लोगों की मौत कोरोना के कारण हुई। इसमें 2 मौतें बस्तर में हुई।

उधर सुबह स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने स्वास्थ्य विभाग के अफसरों से जांच सैंपलिंग बढ़ाने के निर्देश दिए थे। मरीजों की पहचान हो इसके लिए स्वास्थ्य विभाग का फोकस जांच का दायरा बढ़ाने की ओर है। बीते सप्ताह 14 जनवरी से 20 जनवरी के बीच 3 लाख 44 हजार 870 सैंपलों की जांच की गई । प्रदेश भर में इस वक्त रोजाना औसतन 49 हजार 267 सैंपलों की जांच की जा रही है। पिछले महीने ये एवरेज 20 हजार 256 था। दिसम्बर के मुकाबले जवनरी में करीब ढाई गुना ज्यादा सैंपलों की जांच हो रही है।

छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण स्थिर है, लेकिन मौतों का आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है। गुरुवार को 15 मरीजों की मौत हुई है। तीसरी लहर के दौरान किसी एक दिन हुई मौत का यह सबसे बड़ा आंकड़ा है। डेथ ऑडिट रिपोर्ट से सामने आया है कि अब तक 13 हजार 697 लोगों की मौत रिपोर्ट हुई है। इनमें से इस महामारी से जान गंवाने वालों में से 65.37% लाेगाें को कोरोना के अलावा दूसरी गंभीर बीमारियां भी थीं।

छत्तीसगढ़ के डायरेक्टर एपिडेमिक कंट्रोल डॉ. सुभाष मिश्रा ने बताया, गंभीर बीमारी के चलते कोरोना से मरने वालों की संख्या 8 हजार 953 है। जबकि सिर्फ संक्रमण के चलते 4 हजार 743 लोगों की जान प्रदेश में जा चुकी है। मरने वालों में 4882 की उम्र 46 से 60 साल के बीच पाई गई है। यह एक आयु वर्ग के बीच सबसे अधिक मौत है। मई 2020 में प्रदेश में कोरोना से हुई पहली मौत से लेकर अब तक 15 साल तक के 60 बच्चों की भी मौत हाे चुकी है।

तीसरी लहर में मौतों का आंकड़ा अभी तक कम रहा है, लेकिन पिछले एक सप्ताह से 7 से अधिक मौतें रिपोर्ट हो रही हैं। गुरुवार को हुई मौतों में पांच लोग रायपुर के ही शामिल हैं। दुर्ग, बलौदा बाजार, कोरबा और जांजगीर-चांपा में दो-दो लाेगाें की जान गई है। वहीं बिलासपुर और कोरिया के एक-एक मरीज ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। इनमें से चार लोगों की मौत केवल कोरोना की जटिलताओं से हुई है।