बलौदाबाजार : जिला प्रशासन ने श्रमिको के छोटे छोटे बच्चों को चप्पल पहना कर किया रेल्वे स्टेशन में स्वागत

बलौदाबाजार : जिला प्रशासन ने श्रमिको के छोटे छोटे बच्चों को चप्पल पहना कर किया रेल्वे स्टेशन में स्वागत

जिला कलेक्टर कार्तिकेया गोयल के मार्गदर्शन में जिला प्रशासन ने अभिनव पहल करते हुए आज श्रमिको के छोटे बच्चों को चप्पल पहना कर उनका स्वागत किया गया। फिर सभी को बारी बारी सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों को पालन करते हुए उन्हें क्वारार्टइन सेंटर भेजा गया। आज लखनऊ से आये श्रमिक ट्रेन में आज बलौदाबाजार भाटापारा एवं कवर्धा जिला के कुल 4 सौ 30 श्रमिक घर वापस आये। जिसमे बलौदाबाजार भाटापारा जिला से 1 सौ18  के एंव कवर्धा के 3 सौ 12 मजदूर शामिल है।सभी का स्वास्थ्य परीक्षण निर्धारित प्रोटोकॉल के अनुसार हुआ जिसमें से कुछ लोगो का रेंडमाइजेशन तरीके से भी सैम्पल लिया गया हैं। सभी श्रमिकों को आज मुर्रा चना,ओआरएस का, छाछ का पैकेट देकर भेजा गया। साथ ही जिन मजदूरों के छोटे बच्चे चप्पल नही पहने थे उन्हें चप्पल पहना कर भेजा गया। जिले पंचायत सीईओ आशुतोष पाण्डेय एवं  अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ने बच्चों को खुद  चप्पल खुद पहना कर बसों से भेजा गया। कवर्धा जिला के ग्राम खैरवार के निवासी बोधन दास मानिकपुरी उम्र 33 वर्ष ने बताया कि वह पिछले 8 महीनो से लखनऊ में था । मैं वहां लेबर मिस्त्री का काम करता हूं। अब मैं कभी बाहर काम करने नही जाऊंगा। वहाँ खाने में तकलीफ नही हुआ। पर जब से लॉक डाउन हुआ है। सब काम बंद हो गया है। जिससे मैं वापस अपने गाँव घर आने के इच्छुक थे। गाँव वालों ने मेरी जानकारी राज्य के श्रमिक हेल्पलाइन नंबर में फोन कर दिया। आज मैं स रकार की मदद से घर वापस आकर बहुत ख़ुशी मिल रहा है। इसके लिए हम भूपेश सरकार को धन्यावाद दिया। आज स्टेशन में जिला पंचायत सीईओ आशुतोष पाण्डेय,अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक निवेदिता पॉल, भाटापारा एसडीएम महेश राजपूत, एसडीओपी के बी द्विवेदी,सीएचएमओ डॉ खेमराज सोनवानी के साथ जिला के सभी प्रमुख अधिकारी गण,रेल्वे, स्वास्थ्य पुलिस,राजस्व,शिक्षा विभाग के कर्मचारीभी उपस्थित थे।