बीजापुर : अंत्यावसायी सहकारी विकास निगम : स्वरोजगार अपनाकर युवा बन रहे हैं आत्मनिर्भर

बीजापुर : अंत्यावसायी सहकारी विकास निगम : स्वरोजगार अपनाकर युवा बन रहे हैं आत्मनिर्भर

छत्तीसगढ़ सरकार अंत्यावसायी सहकारी विकास निगम के माध्यम से प्रदेश के सभी जिलों में अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक वर्गों के युवाओं को स्वरोजगार के लिए वित्तीय ऋण सहायता एवं व्यावसायिक प्रशिक्षण दिलाकर स्वावलंबी बनाने का कार्य कर रही है। प्रशिक्षण प्राप्त कर युवा स्वरोजगार अपनाकर आत्मनिर्भर बन रहे है। जिला बीजापुर में भी निगम के द्वारा चलाए जा रहे योजनाओं का लाभ लेकर पिछले ढाई वर्षों में कई युवाओं ने अपने सपनों को पूरा किया है।

बीजापुर जिले में अंत्यावसायी सहकारी विकास समिति के माध्यम से विगत ढाई वर्ष में आदिवासी स्वरोजगार योजनान्तर्गत अनुसूचित जनजाति वर्ग के 190 हितग्राहियों को 54 लाख रूपये का ऋण तथा साढ़े 14 लाख रूपये अनुदान दिया गया है। वहीं अंत्योदय स्वरोजगार योजनान्तर्गत अनुसूचित जाति वर्ग के 60 हितग्राहियों को स्वरोजगार स्थापना के लिए 27 लाख रूपये का ऋण तथा 5 लाख 70 हजार रूपये अनुदान सुलभ कराया गया।

इसके अलावा अनुसूचित जनजाति वर्ग के 3 हितग्राहियों को ट्रेक्टर-ट्राली योजनान्तर्गत साढ़े 26 लाख रूपये का ऋण दिया गया है। अनुसूचित जनजाति वर्ग के युवाओं को स्मॉल बिजनेस योजनान्तर्गत अब तक 9 हितग्राहियांे को 17 लाख रूपये का ऋण उपलब्ध कराया गया है। इसी तरह अनुसूचित जाति वर्ग के 2 हितग्राहियों को लघु व्यवसाय के लिए 6 लाख रूपये तथा एक हितग्राही को टैªक्टर ट्रॉली योजनान्तर्गत 8 लाख 40 हजार रूपये की सहायता दी गयी है। अल्पसंख्यक वर्ग के 6 हितग्राहियों को टर्म लोन योजना के अंतर्गत 7 लाख रूपये और महिला सशक्तीकरण योजनान्तर्गत 4 हितग्राहियों को 4 लाख रूपये की सहायता दी गयी है।

बस्तर क्षेत्र विकास प्राधिकरण की शहीद वीरनारायण सिंह स्वावलंबन योजनान्तर्गत विगत दो वर्ष में 12 हितग्राहियों को 24 लाख रूपये का ऋण-अनुदान सुलभ कराया गया है। इस योजना से लाभान्वित भैरमगढ़ ब्लॉक के काडोली निवासी गंभीर तेलम एवं भोपालपटनम ब्लॉक के दूरस्थ क्षेत्र मिनकापल्ली निवासी मनोज यालम दुकान का संचालन कर अपनी जिविका चला रहे हैं। लाभार्थियों ने सरकार द्वारा चलाए जा रहे योजनाओं के लिए राज्य सरकार एवं बीजापुर जिला प्रशासन का आभार व्यक्त किया है।