रायपुर से दुर्ग तक दो साल में बनेंगे चार फ्लाईओवर, प्रदेश को दिए 4329 करोड़ की विभिन्न परियोजना

रायपुर से दुर्ग तक दो साल में बनेंगे चार फ्लाईओवर, प्रदेश को दिए 4329 करोड़ की विभिन्न परियोजना

भिलाई (एजेंसी) | दुर्ग, भिलाई और रायपुर की जनता को पांच फ्लाईओवर और एक बायपास से हैवी ट्रैफिक से राहत मिलेगी। इसकी नींव सोमवार को केंद्रीय परिवहन और पीडब्ल्यूडी मंत्री नितिन गडकरी और मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने रखी। इस दौरान केंद्रीय मंत्री गडकरी ने कहा, आप प्रदेश में चौथी बार भाजपा की सरकार बना दो। मैं रायपुर से दुर्ग तक हवा में चलने वाली बस चलाऊंगा। गडकरी ने कहा, पिछले 4 साल में छत्तीसगढ़ सरकार को सड़क निर्माण कार्य के लिए लगभग 35 हजार करोड़ दिए हैं। अब और 40 हजार करोड़ दिए जाएंगे। मेरे पास पैसे की कमी नहीं है। काम अच्छे होने चाहिए।

इससे पहले राज्य के पीडब्ल्यूडी मंत्री राजेश मूणत ने कहा कि, दुर्ग-भिलाई और रायपुर के बीच लगातार हादसे हो रहे थे। मैंने फ्लाईओवर के लिए मंत्री गडकरी से मुलाकात की। बिना देरी किए ही उन्होंने इसकी मंजूरी दी। कार्यक्रम में कैबिनेट मंत्री प्रेम प्रकाश पांडेय, रमशीला साहू, सांसद अभिषेक सिंह, लाभचंद बाफना, विधायक विद्यारतन भसीन, सावलाराम डाहरे, चरोदा मेयर चंद्रकांता मांडले अन्य मौजूद रहे।




केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने दुर्ग-रायपुर बायपास राष्ट्रीय राजमार्ग-53 की भी रखी नींव इसके साथ ही सड़कों के उन्नयन के लिए संभाग को 500 करोड़ के दिए प्रोजेक्ट व विभिन्न निर्माण कार्यों का लोकार्पण किया।


छत्तीसगढ़ के दुर्ग में आज 4239 करोड़ रुपए लागत की विभिन्न परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास मुख्यमंत्री डॉ श्री रमन सिंह जी की उपस्थिति में किया गया। इसमें एनएच-53 पर 2281 करोड़ लागत से रायपुर- दुर्ग बायपास बनाया जायेगा।


एक ठेकेदार मेरे ऑफिस नहीं आया

गडकरी ने कहा कि, सरकार के पास पैसे की कमी नहीं है। काम गुणवत्ता पूर्ण होने चाहिए। हमने काम के लिए ऐसी प्रणाली विकसित की है कि ठेकेदारों के एक रुपया भी बकाया नहीं है। मेरे पास एक ठेकेदार भी नहीं आते। परमिट ग्रॉस से करेंगे मुक्त: बॉयोफ्यूल, इथेनॉल, सीएनजी और इलेक्ट्रिक से चलने वाले वाहनों के लिए मैं चार दिन में बड़ी घोषणा करने जा रहा हूं। इसकी शुरुआत छग से होगी। इनसे वाहन चलाओं, हम आपको परमिट ग्रॉस से मुक्त करेंगे।

छग में प्राकृतिक संसाधन भरमार है। छत्तीसगढ़ में लगाए रिसर्च सेंटर: बॉयोफ्यूल व अन्य प्राकृतिक संसाधनों पर रिसर्च की आवश्यकता है। छत्तीसगढ़ में कहीं भी रिसर्च सेंटर लाइए, मैं भरोसा करता हूं कि छग इसका हब बनेगा। कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री गडकरी बोले- प्रदेश में चौथी बार सरकार बनाओ, मैं रायपुर से दुर्ग हवा में चलाऊंगा बस, विकास कार्यों के लिए मेरे पास पैसे की कमी नहीं है।

पड़ोसी जिलों में होंगे ये काम

बालोद: राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक 930 पर झलमला से शेरपुर तक 37 किलोमीटर लंबी सड़क के लिए 268 करोड़ 11 लाख रुपए की मंजूरी।

कवर्धा: 5.5 किमी के लिए 100 करोड़ रुपए की मंजूरी।  बेमेतरा: 16.6 किमी बायपास के लिए रोड 250 करोड़ रुपए की मंजूरी।

राजनांदगांव: पार्रीकला से सड़क और सोमनी में सर्विसलेन के लिए 30 करोड़ रुपए की मंजूरी।

दुर्ग-बालोद फोरलेन का रास्ता साफ, मंत्री गडकरी ने दिए 219 करोड़ रुपए

दुर्ग से गुंडरदेही और बालोद के लिए फोरलेन प्रस्तावित था, उसके लिए सोमवार को केंद्रीय मंत्री गडकरी ने 219 करोड़ रुपए की मंजूरी दे दी। यह दुर्ग-बालोद मार्ग है। जो अभी टू-लेन है। यहां ट्रैफिक हैवी रहता है। इसलिए पीडब्ल्यूडी ने प्रस्ताव बनाकर शासन को भेजा था। सोमवार को मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने इसकी मांग मंच से गडकरी से की और उन्होंने मंजूरी भी दे दी। बता दें कि, अभी यहां पर हैवी ट्रैफिक रहता है। सड़क चौड़ीकरण का प्रस्ताव लंबे समय से था। इसलिए गुंडरदेही होते हुए बालोद तक फोरलेन बनाया जाएगा।



Leave a Reply