लॉकडाउन में पीएम गरीब कल्याण योजना के तहत 31 करोड़ लोगों को 28 हजार करोड़ रुपए बांटे

लॉकडाउन में पीएम गरीब कल्याण योजना के तहत 31 करोड़ लोगों को 28 हजार करोड़ रुपए बांटे

नई दिल्ली. कोरोनावायरस के कारण देश में 14 अप्रैल तक 21 दिनों का लॉकडाउन चल रहा है। इस कारण देश में अधिकांश कारोबारी गतिविधियां ठप पड़ी हैं। इससे गरीबों और मजदूरों के सामने रोजी-रोटी का संकट पैदा हो गया है। इस संकट को दूर करने के लिए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 26 मार्च को प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत 1.70 लाख करोड़ रुपए के राहत पैकेज की घोषणा की थी। इस राहत पैकेज में से अब तक 31 करोड़ से ज्यादा लोगों को 28 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा की राशि का वितरण किया जा चुका है। यह जानकारी वित्त मंत्रालय ने दी है।

किसको क्या मिला?

योजना लाभार्थी कुल आवंटन (रु)
जनधन खाताधारक महिला 19.86 करोड़ 9930 करोड़
विधवा, दिव्यांग, वृद्धावस्था पेंशन 2.82 करोड़ 1405 करोड़
पीएम किसान योजना 6.93 करोड़ 13855 करोड़
निर्माण कार्य से जुड़े लोग 2.16 करोड़ 3066 करोड़
कुल 31.77 करोड़ 28256 करोड़ रुपए
राहत पैकेज की प्रमुख घोषणाएं
  • आशा कर्मियों, डॉक्टर, पैरामेडिकल स्टाफ का 50 लाख का बीमा होगा।
  • 80 करोड़ गरीब लोगों को अगले तीन महीने तक 5 किलो गेहूं या चावल और दाल मुफ्त दिए जाएंगे।
  • पीएम किसान सम्मान निधि के तहत 2 हजार रुपए की किस्त किसानों के खाते में अप्रैल के पहले सप्ताह में ट्रांसफर कर दी जाएगी। इससे 8.7 करोड़ किसानों को लाभ मिलेगा।
  • मनरेगा के तहत 182 के स्थान पर 202 रुपए की दैनिक मजदूरी दी जाएगी। इससे 5 करोड़ लोगों को लाभ मिलेगा।
  • तीन करोड़ वरिष्ठ नागरिकों, गरीब विधवा और गरीब दिव्यांगों को अगले तीन महीने तक 1 हजार रुपए प्रतिमाह की आर्थिक मदद दी जाएगी।
  • उज्ज्वला योजना की लाभार्थी 8 करोड़ से ज्यादा महिलाओं को अगले तीन महीने तक मुफ्त रसोई गैस मिलेगी।
  • 20 करोड़ महिला जन धन खाता धारकों को अगले तीन महीने तक 500-500 रुपए दिए जाएंगे।
  • कर्मचारी अपने पीएफ खाते में से कुल जमा में से 75 फीसदी या तीन महीने की सैलरी के बराबर पैसा निकाल सकते हैं। इस पैसे को वापस जमा करने की जरूरत नहीं होगी।
  • महिला स्व सहायता समूह को अब 20 लाख का फ्री कोलैटरल लोन मिलेगा।
  • 15000 तक मासिक वेतन वालों के ईपीएफओ अंशदान अगले तीन महीने तक सरकार करेगी।
  • निर्माण क्षेत्र से जुड़े 3.5 करोड़ रजिस्टर्ड वर्कर जो लॉकडाउन की वजह से आर्थिक दिक्कतें झेल रहे हैं, उन्हें मदद दी जाएगी। इनके लिए 31000 करोड़ रु. का फंड रखा गया है।

देश में कोरोना से अब तक 266 मौतें

देश में कोरोना संक्रमण से मरने वालों की संख्या 266 हो गई। शनिवार को मध्य प्रदेश के इंदौर में 75, 66 और 52 साल के तीन लोगों ने दम तोड़ दिया। ये तीनों कोरोना पॉजिटिव शहर के अलग-अलग अस्पताल में इलाज करा रहे थे। उधर, केरल में भी एक मौत हुई। यहां के कुन्नुर में 71 साल के व्यक्ति ने आखिरी सांस ली। एक अन्य मौत महाराष्ट्र में हुई। मुंबई के धारावी के रहने वाले एक 80 साल के व्यक्ति ने दम तोड़ दिया। वह मुंबई के कस्तूरबा हॉस्पिटल में भर्ती था। वहीं देश में कुल संक्रमितों की संख्या 7 हजार 899 हो गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, देश में 7 हजार 529 संक्रमित हैं। इनमें से 6 हजार 634 का इलाज चल रहा है। 652 ठीक हुए हैं और 242 की मौत हो चुकी है।