हो सकती है एशिया कप में वापसी युवराज ने मैदान में मचाया तहलका

एक समय वह था जब भारतीय क्रिकेट टीम के मध्यक्रम की कमान युवराज सिंह जैसे बेहद आक्रामक और ताबड़तोड़ बल्लेबाजों के हाथों हुआ करती थी और भारतीय मध्यक्रम विश्व की सबसे मजबूत मध्यक्रम में से एक मानी जाती थी लेकिन मौजूदा समय में युवराज सिंह भारतीय क्रिकेट टीम का हिस्सा नहीं है युवराज सिंह काफी समय से अपनी खराब फॉर्म से जूझ रहे हैं और इसी कारण बीते पिछले 2 सालों से युवराज सिंह की टीम में वापसी नहीं हो सकी।

भारतीय क्रिकेट टीम में हमेशा ही एक से बढ़कर एक धुरंधर बल्लेबाज रहे हैं और यही कारण है कि भारतीय क्रिकेट टीम की बल्लेबाजी क्रम को हमेशा विश्व क्रिकेट के सबसे बेहतरीन और आक्रामक बल्लेबाजी क्रम में से एक माना जाता रहा है लेकिन हाल ही में खेले गए घरेलू मैचों के अंदर युवराज सिंह का बेहद आक्रामक और ताबड़तोड़ प्रदर्शन देखने को मिला जिसके बाद यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि युवराज सिंह एक बार फिर से भारतीय मध्यक्रम की कमान संभालते हुए दिखाई दे सकते हैं।

एशियाकप 2018 की शुरुआत 15 सितंबर से होनी है और 29 सितंबर तक भारत के मुकाबले कई टीमों के साथ होने हैं जहां पर युवराज सिंह की वापसी होती हुई दिखाई दे सकती है हालांकि युवराज सिंह मौजूदा समय में खराब फॉर्म से जूझ रहे हैं लेकिन यह याद रखने वाली बात होनी चाहिए कि युवराज सिंह भारत के उन आक्रामक और ताबड़तोड़ बल्लेबाजों में से एक रहे हैं जिन्होंने भारत को एक बार नहीं बल्कि दो बार विश्वकप दिलाने में अहम भूमिका निभाई।

2007 विश्वकप के दौरान युवराज एकमात्र ऐसे बल्लेबाज रहे जिनका शानदार प्रदर्शन देखने को मिला| वहीं पर 2011 विश्वकप के दौरान युवराज सिंह को मैन ऑफ द सीरीज के खिताब से नवाजा गया था ऐसे में यदि युवी एशिया कप 2018 में वापसी करते है तो भारतीय मध्यक्रम काफी मजबूत होता हुआ दिखाई दे सकता है।

Leave a Reply